10+ मैसूर में घूमने की जगह – Tourist Places in Mysore

5/5 - (9 votes)

Tourist Places in Mysore:- मैसूर एक बहुत ही सुंदर शहर है जो कर्नाटक राज्य में स्थित है। इस शहर में स्थानीय लोग अत्यंत दयालु और स्वागतपूर्ण होते हैं, जो आपको इस शहर के भ्रमण का अद्भुत अनुभव प्रदान करते हैं। मैसूर के राजकीय इतिहास को ध्यान में रखते हुए, यह शहर एक समृद्ध संस्कृति का केंद्र है जो उत्कृष्ट संस्कृति और कला की धरोहर रखता है। मैसूर शहर की संस्कृति के आधार पर, यहां पर पूजा और उत्सवों को बहुत उत्साह से मनाया जाता है। मैसूर में घुमने के लिए एक से बढ़कर एक जगह है जिसके बारे में हम अपने इस आर्टिकल में आपको बताने जा रहे हैं तो आपसे अनुरोध है कि पुरा आर्टिकल को ध्यान से पढ़े |

मैसूर में घूमने की जगह – Tourist Place in Mysore

मैसूर कर्नाटक राज्य में स्थित एक शहर है। यहाँ पर कई ऐसे धार्मिक और एतेहासिक पर्यटन स्थल है जिसे देखने काफी अधिक संख्या में लोग देश एवं विदेश से आते हैं | मैसूर में वैसे तो बहुत सारे पर्यटन स्थल (Tourist places in mysore) है लेकिंग उनमे से प्रमुख पर्यटन स्थल जो लोगो द्वारा बहुत पसंद किया जाता है वैसे पर्यटन स्थल (Places to visit in mysore) के बारे में हम इस आर्टिकल में जानकारी देंगे तो चलिए अपने इस आर्टिकल में जानकारी की ओर आगे बढते हैं :- 

Table of Contents

1. मैसूर पैलेस – Mysore palace

Mysore palace, tourist places in mysore
Mysore palace

मैसूर पैलेस, जिसे अंबा विलास पैलेस भी कहा जाता है, कर्नाटक राज्य के मैसूर शहर में स्थित एक ऐतिहासिक पैलेस है। इसे महाराजा वडायर ने 1912 में बनवाया था और दक्षिण भारत के सबसे ज्यादा दर्शनीय स्थलों में से एक है। इस पैलेस की शैली हिंदू, मुस्लिम, राजपूत और गोथिक आर्किटेक्चरल स्टाइलों का एक मिश्रण है। यह पैलेस अपनी सुंदरता और बड़ी साइज के कारण जाना जाता है। यह सुंदर पैलेस प्रतिदिन हजारों पर्यटकों को आकर्षित करता है। इस पैलेस के भीतर, आप राजस्थानी स्टाइल में बने शानदार रूम, सोने-चांदी के आलीशान इंटीरियर, आदर्श ग्रंथालय, अस्त्र-शस्त्र गृह, सुंदर सजावट वाले बाग आदि को देख सकते हैं।

mysore palace timings प्रतिदिन सुबह 10.00 बजे से संध्या 05.30 बजे तक

इसे भी पढ़े:- ऊटी एक खुबसुरत जगह जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

2. सोमनाथ मंदिर – Somnath Temple Mysore

Somnath Temple Mysore, tourist places in mysore
Somnath Temple Mysore

यहाँ विश्व प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर है जो भारत के अन्य मंदिरों की तुलना में एक अनोखी संस्कृति और विस्तृत ऐतिहासिक महत्व का होने के लिए जाना जाता है। मैसूर के सोमनाथपुरा मंदिर का निर्माण विजयनगर साम्राज्य के राजा नारसिंह के समय में १३७६ ई. में हुआ था। इस मंदिर का नाम भगवान शिव के नामों में से एक है। इस मंदिर का निर्माण चल्लुक्य वंश के निर्माता डिंगलाज ने करवाया था। इस मंदिर के अंदर आपको एक स्वर्णाकार नंदी स्थापित मिलेगा जो मंदिर के शिवलिंग की ओर मुख करता है।

इसे भी पढ़े:- मनाली एक खुबसुरत जगह जहाँ जरुर जाना चाहिए

3. वृन्दाबन गार्डन – Brindavan Garden Mysore

Brindavan Garden Mysore, tourist places in mysore
Brindavan Garden Mysore

ब्रिंदावन बाग, मैसूर का एक बहुत ही रोमांचक स्थान है। यह बाग भारत के प्रसिद्ध शहर मैसूर से लगभग 21 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस बाग को विश्वप्रसिद्ध बग़बान के रूप में जाना जाता है। इसका नाम भी बग़बान से प्रभावित है, जिसमें शाम के समय बहुत सारे प्रकार के फूलों की खुशबू और झील के पानी की सुंदरता का आनंद लिया जा सकता है। इस बाग में खूबसूरत सागर है जो आपको आकर्षित करता है। यहां जाने वाले लोगों को शाम के समय इस सागर की सुंदरता का आनंद लेने का मौका मिलता है।

brindavan garden mysore timings प्रतिदिन सुबह 06.00 बजे से संध्या के 08.00 बजे तक |
brindavan garden mysore ticket price प्रति व्यक्ति शुल्क – 15 रुपये
बच्चे के लिए (उम्र-5-10 वर्ष) – 5 रूपये

इसे भी पढ़े :- द्वारका एक धार्मिक एवं लोकप्रिय पर्यटन स्थल

4. मैसूर जू – Mysore Zoo

Mysore Zoo, tourist places in mysore
Mysore Zoo

मैसूर जू, भारत का एक प्रसिद्ध जू है जो कि दक्षिण भारत में स्थित है। यह जू समय-समय पर देश और विदेश से आने वाले पर्यटकों का आकर्षण बना रहता है। इस जू का नाम अभी हाल ही में बदला गया था, जो अब “श्री चामराजेंद्र जी बाड़ा” के नाम से जाना जाता है। यह जू एक बहुत ही विस्तृत जंगल के भीतर स्थित है जो विभिन्न प्रजातियों के जानवरों के लिए आदर्श मौसम और पर्यावरण प्रदान करता है। इस जू में लगभग 168 प्रजातियों के जानवर रहते हैं। यहाँ विभिन्न प्रजातियों के जानवरों को देखने के लिए आप एक दिन के लिए जू यात्रा कर सकते हैं। यहाँ आप बड़े भारतीय बाघ, सिंह, शेर, उदंड भालू, चीते, चमगादड़ और बड़े अंडे वाली मछलियों जैसे विभिन्न प्रजातियों के जानवर देख सकते हैं।

mysore zoo timings मंगलवार (Tuesday) को छोड़कर प्रतिदिन खुला रहता है |
mysore zoo ticket price
सोमवार (Monday) से शुक्रवार (Friday) के बीच प्रति व्यक्ति शुल्क – 50 रुपये
बच्चे के लिए (उम्र-5-10 वर्ष) – 20 रूपये
शनिवार (Saturday) से रविवार (Sunday) के बीच प्रति व्यक्ति शुल्क – 60 रुपये
बच्चे के लिए (उम्र-5-10 वर्ष) – 30 रूपये

इसे भी पढ़े :- केरल में सुन्दर एवं आकर्षक पर्यटन स्थल

5. चामुंडेश्वरी मंदिर – Chamundeshwari Temple Mysore

Chamundeshwari Temple Mysore, tourist places in mysore
Chamundeshwari Temple Mysore

चामुंडेश्वरी मंदिर मैसूर, कर्नाटक का एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है। यह मंदिर मैसूर से लगभग 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और मैसूर के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। इस मंदिर का नाम चामुंडेश्वरी देवी के नाम पर रखा गया है, जो मंदिर के पास स्थित चामुंडी पहाड़ी पर अपने मंदिर में विराजमान हैं। मंदिर के भीतर जाने से पहले, आपको पहाड़ी की सीढ़ियों को ऊपर चढ़ना होगा। चामुंडेश्वरी मंदिर का निर्माण विजयनगर साम्राज्य के समय में हुआ था और इसे बार-बार नवीनीकृत किया गया है। मंदिर का शिखर भारतीय स्थापत्य शैली में बनाया गया है और इसकी विस्तृत छत में सुंदर नक्काशी दी गई है। मंदिर में चामुंडेश्वरी देवी की मूर्ति स्थापित है जो कि सोने से बनी हुई है। इसके अलावा, आप मंदिर में कई और देवी-देवताओं की मूर्तियों को भी देख सकते हैं।

chamundeshwari temple mysore timings
दर्शन और पूजा का समय सुबह 7.30 बजे से दोपहर 2.00 बजे तक और दोपहर 3.30 बजे से शाम 6.00 बजे तक
अभिषेक समय सुबह 6 बजे से 7.30 बजे और शाम 6 बजे से 7.30 बजे तक | शुक्रवार सुबह 5 बजे से 6.30 बजे तक।

इसे भी पढ़े :- हरिद्वार के प्रमुख पर्यटन स्थल कि पुरी जानकारी

6. रेल संग्रहालय – Rail Museum Mysore

Rail Museum Mysore, tourist places in mysore
Rail Museum Mysore

रेल म्यूजियम मैसूर भारत के नामी शहर मैसूर में स्थित है और यह रेलवे इतिहास और विकास को दर्शाने के लिए एक अद्भुत संग्रहालय है। इस म्यूजियम में भारतीय रेलवे के इतिहास से संबंधित विभिन्न वस्तुएं, जैसे अलग-अलग रेलगाड़ियों के आकार और आकृति, ट्रेनों के इतिहास, सिस्टम और उनके प्रकार, लोकोमोटिव की विविधता, अनुप्रयोग, विकास आदि शामिल हैं। म्यूजियम में आपको भारतीय रेलवे के इतिहास से जुड़ी कुछ अनोखी चीजें देखने को मिलेंगी। आप इस म्यूजियम में भारतीय रेलवे के प्राचीन समय से लेकर आधुनिक दौर के विकास और उनके विभिन्न प्रकार देख सकते हैं।
यह म्यूजियम बच्चों के लिए भी एक उत्कृष्ट जगह है। उन्हें भारतीय रेलवे के इतिहास के बारे में जानने और समझने के लिए कई खिलौने और मॉडल रेलगाड़ियां भी प्रदान की जाती हैं।

rail museum mysore timings मंगलवार (Tuesday) को छोड़कर प्रतिदिन सुबह 10-30 से संध्या के 05.00 बजे तक |

इसे भी पढ़े :- शिमला एक खुबसुरत शहर जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

7. करंजी झील – Karanji Lake Mysore

Karanji Lake Mysore, tourist places in mysore
Karanji Lake Mysore

करंजी झील मैसूर शहर में स्थित है और यह जल तट प्रदर्शनी के लिए एक प्रसिद्ध स्थान है। यह झील नेचुरल हेबिटेट एवं बर्ड सैंक्चुरी के लिए भी जाना जाता है। यह झील मैसूर के सबसे बड़े झीलों में से एक है और इसके आसपास बहुत सारी सुंदर प्राकृतिक वातावरण है। झील का नाम करंजी झील है क्योंकि यह झील करंजी नाम के पौधों से घिरा हुआ है। यह झील बहुत सुंदर है और उसके आसपास की धरती पर बहुत सारी फूलों और पौधों की विविधता है। झील के किनारे पर एक बड़ा पार्क भी है जहाँ आप खुले हवा में घूम सकते हैं। पार्क में भी बहुत सारी फूलों और पौधों की विविधता है और आप वहाँ पर आराम कर सकते हैं। इसके अलावा, झील के किनारे पर एक बड़ा वन्यजीव उपवन भी है, जहाँ आप विभिन्न प्रकार के पक्षियों और जानवरों को देख सकते हैं।

इसे भी पढ़े :- अजमेर एक खुबसुरत शहर जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

8. जगनमोहन पैलेस – Jaganmohan Palace Mysore

Jaganmohan Palace Mysore, tourist places in mysore
Jaganmohan Palace Mysore

गनमोहन पैलेस मैसूर शहर में स्थित है और यह एक ऐतिहासिक स्थान है जो मैसूर के राजवंश की धरोहर है। इस पैलेस का निर्माण 1861 में हुआ था और यह मैसूर के राजा जयचमाराजेंद्र वोडेयर के द्वारा बनवाया गया था। यह पैलेस एक आकर्षक भवन है जो भारतीय स्थापत्यकला की शानदार नमूना है। इस पैलेस का नाम जगनमोहन पैलेस है क्योंकि इसमें भगवान जगन्मोहन के मूर्ति की स्थापना है। यह पैलेस आजकल म्यूजियम के रूप में उपयोग में है जो मैसूर के इतिहास, कला और संस्कृति को दर्शाता है। इसमें मैसूर के राजवंश के शानदार कपड़ों, वस्तुओं और एक शानदार संग्रहालय शामिल है। जगनमोहन पैलेस में एक बड़ी छत है जहाँ से आप मैसूर के शहर के ऊपर से खूबसूरत नजारे देख सकते हैं। इसके अलावा, यहाँ आप शानदार तस्वीरों की एक संग्रहणी भी देख सकते हैं।

इसे भी पढ़े :- आलाप्पुझा एक खुबसुरत शहर जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

9. सेंट फिलोमेना का चर्च  – St Philomena Church Mysore

St Philomena Church Mysore, tourist places in mysore
St Philomena Church Mysore

सेंट फिलोमेना का चर्च मैसूर शहर में स्थित है और यह एक ऐतिहासिक स्थान है जो मैसूर के प्रमुख धर्म स्थलों में से एक है। यह चर्च 1936 में निर्मित हुई थी और इसका निर्माण एक फ्रांसीसी वास्तुकार के द्वारा किया गया था। सेंट फिलोमेना का चर्च एक शानदार नमूना है भारतीय स्थापत्यकला का। इसमें इटली से आयातित ग्रेनाइट स्टोन के बने स्तंभ और बड़ी सोने की चमकदार मूर्तियाँ हैं।

इसे भी पढ़े :- सिक्किम एक खुबसुरत पहाडो का शहर जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

10. त्रिनेस्वरस्वामी मंदिर – Trinesvaraswamy Temple Mysore

Trinesvaraswamy Temple Mysore, tourist places in mysore
Trinesvaraswamy Temple Mysore

त्रिनेस्वरस्वामी मंदिर मैसूर, कर्नाटक के सबसे प्रसिद्ध हिंदू मंदिरों में से एक है। यह मंदिर बहुत ही पुराना है और महाराजा राजा राजेंद्र वर्मा द्वारा बनवाया गया था। इस मंदिर में संस्कृत श्लोकों का जाप किया जाता है और यह शांति और स्थिरता का एक अद्भुत स्थान है। यह मंदिर महाराष्ट्र के वाईटारा नामक स्थान से बने शिल्पकारों द्वारा निर्मित है। यह मंदिर शैव संप्रदाय के देवता ट्राइनेस्वरस्वामी को समर्पित है और इसके अलावा इस मंदिर में लक्ष्मी नारायण, गणेश और भैरव जैसी कई अन्य देवताओं की मूर्तियां भी हैं। इस मंदिर के अंदर जाने से पहले वास्तव में आपको एक खूबसूरत बाग देखने को मिलता है। इसके बाद आपको मंदिर के अंदर जाने के लिए शिवलिंग के सामने चढ़ाई करनी होगी। मंदिर के अंदर आपको शांति और सुकून की अनुभूति होती है।

इसे भी पढ़े :- पूरी एक खुबसुरत समुन्द्र के किनारे बसा शहर जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

FAQ (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल):-

मैसूर घूमने का सबसे अच्छा समय कौन सा है?

मैसूर को आप पूरे साल घूमने के लिए जा सकते हैं, लेकिन सबसे अच्छा समय मैसूर का दौरा करने के लिए अक्टूबर से फरवरी तक होता है। इस समय मौसम ठंडा और सुहावना होता है जो मैसूर के स्थानों का दौरा करने के लिए बहुत उपयुक्त होता है। जून से सितंबर के बीच मैसूर बहुत ही गर्म और उमस से भरा होता है जो अधिकतर लोगों के लिए असुविधाजनक होता है। 

मैसूर कैसे पहुचें?

मैसूर पहुंचने के लिए निम्नलिखित मार्गों का उपयोग किया जा सकता है:
1. हवाई जहाज: मैसूर में चालू होने वाले एयरपोर्ट का नाम ‘मैसूर एयरपोर्ट’ है जो कि शहर से लगभग 10 किलोमीटर दूर है। इस एयरपोर्ट से दैनिक उड़ानें बंगलोर, दिल्ली और मुंबई समेत अन्य बड़े शहरों से होती हैं।
2. रेलगाड़ी: मैसूर रेलवे स्टेशन भारतीय रेलवे के मुख्य लाइन में है और शहर से आसानी से जुड़ा हुआ है। बंगलोर, दिल्ली, मुंबई और चेन्नई समेत अन्य बड़े शहरों से यहां ट्रेनें आती हैं।
3. बस: मैसूर बस स्टैंड राज्य और प्राइवेट बसों के लिए एक महत्वपूर्ण केंद्र है। शहर बंगलोर, हैदराबाद, मंगलूर, चेन्नई, गोवा, कोच्चि और थ्रिशुर समेत अन्य शहरों से सीधी बस सेवाएं प्रदान करता है।
4. गाड़ी: आप अपनी गाड़ी से भी मैसूर पहुंच सकते हैं। शहर बंगलोर, चेन्नई, हैदराबाद, मंगलूर, गोवा, कोच्चि और थ्रिशुर समेत अन्य शहरों से भी जा सकते हैं |

मैसूर घुमने में कितना खर्च आएगा?

मैसूर घूमने का खर्च आपकी बजट और आपकी यात्रा की अवधि पर निर्भर करता है। यह आपकी रुचि, आवास की व्यवस्था, खाने-पीने की व्यवस्था और अन्य विभिन्न विकल्पों पर भी निर्भर करता है। अगर आप मध्यम बजट वाली यात्रा करना चाहते हैं, तो आप एक दिन के लिए 2000 से 3000 रुपए खर्च कर सकते हैं। इसमें आपकी स्थानीय रूप से रहने की व्यवस्था, खाने-पीने की व्यवस्था, पर्यटन स्थलों के भ्रमण और टैक्सी राइड शामिल हो सकती हैं। यदि आप अधिक समय तक मैसूर में रहना चाहते हैं और अधिक स्थानों का दौर करना चाहते हैं, तो आपका खर्च उच्च हो सकता है। इस स्थिति में, आपको अधिक बजट का विकल्प चुनना होगा।

मैसूर में कहाँ ठहरें ?

मैसूर में ठहरने के लिए कई विकल्प हैं। निम्नलिखित में से कुछ लोकप्रिय विकल्प हैं:
1. होटल: मैसूर में बहुत से होटल हैं, जो आपके बजट के अनुसार होस्टल, लोज, गेस्ट हाउस और लक्जरी होटल जैसी विभिन्न विकल्प प्रदान करते हैं। आप ऑनलाइन होटल बुकिंग साइट या ट्रैवल एजेंट के माध्यम से बुकिंग कर सकते हैं।
2. होमस्टे: होमस्टे मैसूर में बहुत लोकप्रिय हैं। ये आमतौर पर सस्ते होते हैं और यात्रियों को साझा बाथरूम, बेडरूम और रसोई सुविधाएं प्रदान करते हैं।
3. बैंगलो: अगर आप शांतिपूर्ण ठहराव की तलाश में हैं, तो बैंगलो आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। ये अलग-अलग आकार और विभिन्न सुविधाओं वाले होते हैं और आपको अधिक खुले मैदान और आरामदायक ठहराव का अनुभव प्रदान करते हैं।

 मैसूर घूमने के लिए कितने दिन काफी हैं?

मैसूर घूमने के लिए आपको कम से कम 2-3 दिन का समय निकालना चाहिए। 

मैसूर ठंडा है या गर्म?

मैसूर का मौसम वर्ष के अधिकांश समय गर्म और आर्द्र होता है। गर्मियों में, तापमान 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जा सकता है, और सर्दियों में, तापमान आमतौर पर 20 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहता है।

मैसूर पैलेस के लिए प्रवेश शुल्क क्या है?

2023 में, मैसूर पैलेस के लिए प्रवेश शुल्क निम्नानुसार है:

  • भारतीय नागरिकों के लिए: ₹100 प्रति व्यक्ति
  • विदेशी नागरिकों के लिए: ₹250 प्रति व्यक्ति

10 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए प्रवेश शुल्क ₹50 प्रति व्यक्ति है। 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए प्रवेश निःशुल्क है।पैलेस को देखने के लिए सुबह 9:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक खुला रहता है।

मैसूर का सबसे बड़ा महल कौन सा है?

मैसूर का सबसे बड़ा महल मैसूर पैलेस है। यह एक भव्य और विशाल संरचना है जो हिंदू और मुस्लिम वास्तुकला का एक अद्भुत मिश्रण है। पैलेस में कई खूबसूरत कमरे और हॉल हैं, जिनमें से कई में सोने और चांदी के काम हैं। मैसूर पैलेस का निर्माण 19वीं शताब्दी में किया गया था और यह मैसूर के महाराजा के लिए एक आधिकारिक निवास था। पैलेस का क्षेत्रफल लगभग 450,000 वर्ग फुट है और यह 14 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है।

मैसूर में मानसून कब आता है?

मैसूर में मानसून आमतौर पर जून के मध्य में शुरू होता है और सितंबर के मध्य तक रहता है। इस दौरान, मैसूर में लगभग 1,000 मिमी बारिश होती है।

क्या मैसूर नवंबर में ठंडा है?

नवंबर में मैसूर का मौसम आमतौर पर सुहावना और ठंडा होता है। तापमान आमतौर पर 20 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहता है, और आर्द्रता कम होती है।

बेंगलुरु से मैसूर कितना किलोमीटर है

बेंगलुरु से मैसूर की दूरी सड़क मार्ग से लगभग 143 किलोमीटर है। यह दूरी कार या बस से तय की जा सकती है।

मैसूर क्यों फेमस है?

मैसूर भारत के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है। यह कई कारणों से प्रसिद्ध है, मैसूर अपने भव्य महलों और विरासत स्थलों के लिए प्रसिद्ध है। इनमें मैसूर पैलेस, चामुंडी हिल्स, और जयलक्ष्मी विलास पैलेस शामिल हैं। मैसूर अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए भी प्रसिद्ध है। इनमें चामुंडी हिल्स, कृष्णराज सागर बांध, और वृंदावन गार्डन शामिल हैं। मैसूर अपनी समृद्ध संस्कृति और परंपराओं के लिए भी प्रसिद्ध है। इनमें दशहरा उत्सव, चंदन यात्रा, और डोड्डा गणेश उत्सव शामिल हैं।

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को मैसूर में घूमने की जगह (mysore Me Ghumne ki Jagah) (tourist places in mysore) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

और भी पर्यटन स्थल के बारे मे जानकारी के लिए आप हमारे होम पेज पे जाकर किसी भी शहर के बारे मे सर्च कर घुमने कि जगह के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट मैसूर के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है।

Scroll to Top