15+ मनाली में घूमने की जगह – Manali Tourist Places

4.9/5 - (9 votes)

Manali Tourist Places :- मनाली भारत के उत्तरी राज्य हिमाचल प्रदेश में स्थित है जो ब्यास नदी के तट पर बसा एक खूबसूरत शहर है | यह भारत के सबसे लोकप्रिय स्थलों में से एक है। यह खुबसुरत पहाडो और बर्फ से ढका हुआ है, जो मैदानी इलाकों की चिलचिलाती गर्मी से बचने वाले पर्यटकों को राहत देता है। 

मनाली में आप रोहतांग दर्रे की ढलानों से नीचे बहने के बाद ब्यास नदी का हिमाच्छादित पानी रोइंग, व्हाइट वाटर राफ्टिंग और रिवर क्रॉसिंग की साहसिक खेल गतिविधियों के लिए अनुकूल है क्योंकि यह मनाली से कुल्लू तक घाटी से होकर गुजरता है। यहाँ आप मनमोहक दृश्यों के साथ शानदार सूर्योदय देखने का लुफ्त उठा सकते हैं | 

कुल्लु मनाली में घुमने लायक जगह- Places to visit in Manali

कुल्लु हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित पहाडो और जंगलो से घिरा हुआ है | यहाँ पर कई ऐसे धार्मिक और एतेहासिक पर्यटन स्थल है जिसे देखने काफी अधिक संख्या में लोग देश एवं विदेश से आते हैं | मनाली में वैसे तो बहुत सारे पर्यटन स्थल (Tourist places in manali) है लेकिंग उनमे से प्रमुख पर्यटन स्थल जो लोगो द्वारा बहुत पसंद किया जाता है वैसे पर्यटन स्थल (Places to visit in manali) के बारे में हम इस आर्टिकल में जानकारी देंगे तो चलिए अपने इस आर्टिकल में जानकारी की ओर आगे बढते हैं :-

Table of Contents

कुल्लु – Kullu manali mein ghumne ki jagah

Kullu, Manali mein ghumne ki jagah
Kullu, Manali

कुल्लू हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित एक जिला है जो हिमालय और ब्यास नदी के बीच में स्थित है | कुल्लू भारत का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है जो देवदार के जंगलो , बर्फ से ढके पहाडो, और सुन्दर नदियों के लिए जाना जाता है |
कुल्लू भगवान रघुनाथ जी का घर हैं  इसलिए कुल्लू को देवताओं की घाटी’ भी कहा जाता है। कुल्लू में हिंदुओं, सिखों और बौद्धों के कई तीर्थ स्थल है जो इसको खास बनाते हैं। कुल्लू अपने पर्यटन स्थलों के अलावा कुछ एडवेंचर के लिए जाना जाता है जैसे राफ्टिंग, पर्वतारोहण, पैराग्लाइडिंग और ट्रेकिंग उनमे से प्रसिद्ध है। कुल्लू को मंदिरों, पार्कों और गर्म झरनों के लिए भी जाना जाता है। कुल्लू में द ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क स्थित है जहां पर कई प्रकार के पशु पक्षी देखने को मिलते हैं जैसे – भूरे भालू, हिम तेंदुआ, बाघ, खालिज चीयर और विभिन्न प्रकार के हिमालयी पक्षी देखे जा सकते है। कुल्लू भारत मे पर्यटको द्वारा सबसे ज्यादा घूमी जाने वाली जगहो मे से एक हैं।

इसे भी पढ़े :- अंडमान निकोबार एक खुबसुरत जगह जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए 

मनाली – Manali 

Manali mein ghumne ki jagah
Manali

मनाली भारत के प्रमुख हिल स्टेशनो में से एक है और प्राकृतिक दृश्यो से लेकर कई तरह से एडवेचर एक्टिविटी करने वालो के लिए एक स्वर्ग है। ब्यास नदी के तट से 2000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित मनाली अपने प्राकृतिक वैभव से निश्चित रूप से आपको चकित कर देगा। बरसात के मौसम को छोड़कर आप किसी भी मौसम में घुमने यहाँ आ सकते हैं, यह सबसे सुंदर, रोमांटिक और शांत जगहो मे से एक है। मनाली में घूमने के लिए कई सारे पर्यटन स्थल है | 

नग्गर – Naggar, Manali

Naggar, Manali mein ghumne ki jagah
Naggar, Manali

नग्गर मनाली का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है जो अपने हरे- भरे वातावरण, ट्रेकिंग और कैम्पिग की वजह से पर्यटको को अपनी ओर आकर्षित करता है। नग्गर गांव कुल्लू जिले मे स्थित है और इसके सबसे पुरानी राजधानी है। नग्गर अपनी आश्चर्यजनक प्राकृतिक सुन्दरता के लिए प्रसिद्ध है। नग्गर पर्यटन स्थल उन लोगो के लिए खास है जो प्रकृति की गोद मे रहकर शांति का अनुभव लेना चाहते है। पर्यटक यहाँ पर ट्रेकिंग, फिशिंग और कैंपिंग का भी मजा ले सकते है। नग्गर में पर्यटन के लिए हर साल लाखों संख्या में देश-विदेश के विभिन्न हिस्सो से लोगो को आने पर मजबूर करता है। नग्गर शहर मे एक महल भी है, जिसे अब एक हेरिटेज होटल मे बदल दिया गया है। पर्यटक इस महल मे घूम सकते हैं | इसके साथ ही नग्गर मे एक सिद्ध लोक कला संग्रहालय और एक गर्म पानी का झरना है जहाँ पर पर्यटकों को अपनी नग्गर यात्रा के दौरान जरुर जाना चाहिए।

रोहतांग पास – Rohtang Pass, Manali

Rohtang Pass, Manali mein ghumne ki jagah
Rohtang Pass, Manali

रोहतांग दर्रा हिमाचल प्रदेश राज्य मे स्थित है और यह दर्रा लाहौल स्पीति, पांगी और लेह घाटी का प्रवेश द्वार हैं। रोहतांग दर्रा पूरे कुल्लू क्षेत्र मे सबसे और शानदार स्थलो मे से एक है। यह सुरम्य दर्रा मनाली से लगभग 51 किलोमीटर दूर मनाली कीलोंग राजमार्ग से 3980 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। रोहतांग दर्रे का पहाड़ी ढलान इतना सुंदर है कि देश-विदेश के कोने-कोने से लोग यहाँ स्कीइंग, आइस स्केटिंग, पैराग्लाइडिंग जैसे एडवेंचरस स्पोर्ट्स मे भाग लेने के लिए इस स्थान पर आते हैं। रोहतांग दर्रे मे प्रवेश करने की अनुमति भारतीय सेना द्वारा दी जाती है, जब वे बर्फ को पूरी तरह साफ कर देते है एवं वहाँ जाने का अनुकूल वातावरण होता है तब।

इसे भी पढ़े :- सिक्किम पहाडो का शहर खुबसुरत जगह जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

जगतसुख – Jagatsukh, Manali

Jagatsukh, Manali mein ghumne ki jagah
Jagatsukh, Manali

जगतसुख मनाली शहर का एक खूबसूरत गाँव हैं और हिमाचल प्रदेश राज्य के मनाली शहर से लगभग 7 किलोमीटर दूर स्थित कुल्लू के पूर्व राज्य की राजधानी हैं। यह गाँव अपने अद्भुत प्राकृतिक परिदृश्य और प्राचीन जगतसुख मंदिरों के लिए प्रसिद्ध हैं। यहाँ के मंदिर धार्मिक रूप से काफी महत्वपूर्ण हैं, जो भगवान शिव और संध्या देवी को समर्पित है। पर्यटक जगतसुख को एक दिन मे घूम सकते है और अगर कोई यहाँ ठहरना चाहता है तो इसके लिए यहाँ पर कई  होटल, रिसॉर्ट और होमस्टे भी उपलब्ध है।

जगतसुख वार्षिक चाचोली जात्रा महोत्सव के लिए काफी प्रसिद्ध है। यह बर्फ से ढकी पर्वत चोटियों और घनी प्राकृतिक वनस्पतियों के बीच बसा हुआ है | इसीलिए ट्रेकिंग पसंद करने वाले लोग यहाँ पर जेरे से ट्रेकिंग कि शुरूआत करते है या खत्म करते है। यह स्थान प्रकृति प्रेमियो के लिए स्वर्ग है। जो भी पर्यटक मनाली की यात्रा करने के लिए आते है उन्हे जगतसुख की यात्रा जरुर करना चाहिए।

वशिष्ठ – Vashisht, Manali

Vashisht, Manali mein ghumne ki jagah
Vashisht, Manali

वशिष्ठ मनाली का एक प्रमुख मंदिर है जो शहर से लगभग 3 कि०मी० की दूरी पर स्थित है, आपको बता दे कि यह मंदिर वशिष्ठ नाम के गांव मे स्थित है जो अपने शानदार गर्म पानी के झरनो और वशिष्ठ मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। मंदिर के पास स्थित गर्म पानी के झरनों को बेहद पवित्र माना जाता है और इसमें किसी भी बीमारी को ठीक करने की शक्ति है। वशिष्ठ मंदिर ऋषि वशिष्ठ को समर्पित है, जो भगवान राम के कुल गुरु थे।

यह मंदिर मनाली में सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है। माना जाता है कि वशिष्ठ मंदिर 4000 साल से अधिक पुराना है। मंदिर के अंदर धोती पहने ऋषि की एक काले पत्थर की मूर्ति स्थित है। वशिष्ठ मंदिर को लकड़ी पर उत्कृष्ट और सुंदर नक्काशी से सजाया गया है इसके अलावा मंदिर का इंटीरियर एंटीक पेंटिंग के साथ अलंकृत हैं। यहां पर वशिष्ठ मंदिर के अलावा एक और मंदिर है जिसको राम मंदिर के रूप मे जाना जाता है। इस मंदिर के अन्दर श्री राम, माता सीता और श्री  लक्ष्मण की भगवान की मूर्तियां स्थापित है।

अर्जुन गुफा – Arjun Gufa, Manali

Arjun Gufa, Manali
Arjun Gufa, Manali

अर्जुन गुफा को एक पौराणिक प्राकृतिक गुफा है। यह गुफा पर्यटको और स्थानीय लोगो का एक पसंदीदा पिकनिक स्थल है और अंदर से सृष्टि की खोज के रोमांच के लिए भी प्रसिद्ध स्थान है। अर्जुन गुफा ब्यास नदी के बाईं ओर स्थित है जो सुंदर प्रिंसी गांव के बहुत करीब है। गुफा तक की चढ़ाई के दौरान आप यहाँ के प्राकृतिक दृश्यो का आनंद ले सकते है। अर्जुन गुफा एक पहाड़ी मे एक संकीर्ण रास्ता है। इस पूरी गुफा को एक्स्प्लोर करने मे आपको करीब 45 मिनट लगते हैं।

नेहरु कुंड – Nehru Kund, Manali

Nehru Kund, Manali mein ghumne ki jagah
Nehru Kund, Manali, Himachal Pradesh

नेहरू कुंड भृगु झील के पानी से बना एक ठंडे पानी का प्राकृतिक झरना हैं जो मनाली मे काफी प्रसिद्ध स्थान है। नेहरू कुंड के पानी को बहुत पवित्र माना जाता है क्योकि यह बीमार इंसान को ठीक कर देता है। नेहरू कुंड का नाम भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम पर रखा गया है क्योकि जब भी वो मनाली की यात्रा करने आते थे तो इस झरने का पानी पीते थे। नेहरू कुंड मनाली के 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। मनाली लेह राजमार्ग पर स्थित नेहरू कुंड के बारे मे यह माना जाता है कि इसका पानी प्रसिद्ध भृगु झील से निकलता हैं।

नेहरू कुंड अपने ठंडे और प्राचीन पानी के साथ साथ पहाड़ो और घाटियो के लुभावने दृश्यो के लिए भी जाना जाता है। नेहरू कुंड पर्यटको के बीच फोटोग्राफी के लिए काफी प्रसिद्ध स्थान है। यहाँ पर शानदार फोटोशूट के लिए सही प्राकृतिक प्रकाश आता है। जब यहाँ का मौसम अच्छा होता है तो पर्यटको के द्वारा यहां जगह-जगह फोटोशूट करते नजर आते हैं। तो पर्यटक मनाली टूर में इस स्थान को आवश्य जोड़े |

सोलंग वैली – Solang Valley, Manali

Solang Valley, Manali, mein ghumne ki jagah
Solang Valley, Manali, Himanchal pradesh

सोलंग वैली हिमाचल प्रदेश राज्य के कुल्लू घाटी के शीर्ष पर स्थित एक टूरिस्ट साइड वैली है। सोलंग घाटी मनाली के मुख्य शहर से चौदह किमी दूर उत्तर पश्चिम मे स्थित है और हिमाचल प्रदेश के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलो मे से एक है। सोलंग वैली मे यह घाटी ब्यास कुंड और सोलंग गाँव के बीच मनाली से रोहतांग दर्रे के रास्ते मे पड़ती है। सोलंग घाटी को देखने के लिए हर साल देश विदेश से काफी अधिक संख्या मे पर्यटक यहाँ घूमने आते हैं। यह एडवेंचर के शौकीन पर्यटको के लिए एक पसंदीदा जगह है। इसके अलावा यहाँ आप पैराग्लाइडिंग, पैराशूटिंग, घुड़सवारी से लेकर मिनी ओपन जीपों की सवारी विशेष रूप से सभी आयु वर्ग के पर्यटको के लिए उपलब्ध है। सर्दियो के दौरान जब घाटी बर्फ से ढकी होती है तब इस दौरान स्कीइंग यहाँ एक लोकप्रिय खेल है। मई मे जब बर्फ पिघलती है तो इस दौरान स्कीइंग जोरबिंग, पैराग्लाइडिंग और पैराशूटिग मे बदल जाती है। सोलंग घाटी की ढलान और यहाँ के मनमोहक दृश्य हमेशा ही पर्यटको के लिए आकर्षण का केंद्र बने रहते है।

इसे भी पढ़े :- मनाली एक हनीमून डेस्टिनेशन जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

मणिकरण – Manikaran, Manali

Manikaran, Manali mein ghumne ki jagah
Manikaran, Manali, Himanchal Pradesh

मणिकरण, हिमाचल प्रदेश राज्य के कुल्लू जिले मे स्थित है जो सिखों और हिंदुओं दोनों के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल के रूप में जाना जाता है। यहा के गर्म झरने, धार्मिक प्रवृत्तियां और खूबसूरत वातावरण पर्यटको को अपने ओर आकर्षित करता है। कई सारे मंदिरो की संख्या और गुरुद्वारा, मणिकरण साहिब इस जगह को एक धार्मिक स्थान बनाते है। मणिकरण साहिब गुरुद्वारा सिखो और हिंदू दोनो के द्वारा पवित्र माना जाता है। 

हिन्दुओ का मानना है कि भगवान शिव और पार्वती देवी लगभग 1100 वर्षो तक यहा पर रहे थे और सिखो के अनुसार, गुरु नानक जी ने यहा कई चमत्कार किए थे। मणिकरण साहिब कुल्लू का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है। इस गुरुद्वारा का जियान गियान सिख द्वारा बारहवें गुरु खालसा मे भी उल्लेख किया गया है। तो अगर आप धर्मो में रूचि रखते है तो यह स्थान आपके लिए खास है |

मलाना – Malana कुल्लु मनाली में घुमने कि जगह, Manali

Malana, Manali mein ghumne ki jagah
Malana, Manali, Himachal Pradesh

मलाना, हिमाचल प्रदेश के कुल्लू क्षेत्र मे सबसे खूबसूरत ट्रैको में से एक है। जो 9,938 फीट की ऊंचाई पर मलाणा गाँव है जिसे तब्बू गांव भी कहा जाता है। मलाणा को दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्रो में से एक माना जाता है और माना जाता है कि मलाणा के लोग यूनानियो के प्रत्यक्ष वंशज है, जो सिकंदर महान के तहत अपने एक अभियान के दौरान भारत आए थे। मलाणा – चंद्रखानी दर्रा ट्रैक मनाली से ब्यास नदी के बाए किनारे से कुछ दूरी की ड्राइव के बाद नग्गर मे शुरू होता है। चंद्रखानी दर्रा (3600 मीटर) को पार करने के बाद, यह ट्रैक मलाणा गाँव तक पहुँचता है, जो अपनी सामाजिक संस्कृति के लिए बहुत प्रसिद्ध है। तो अगर आप ट्रेकिंग और अडवेनचर के सौकीन है तो मनाली टूर में इस स्थान को आवश्य जोड़े |

हिडिम्बा देवी मंदिर – Hidimba Devi Temple, Manali

Hidimba Devi Temple, Manali mein ghumne ki jagah
Hidimba Devi Temple, Manali, Himanchal Pradesh

हिडिम्बा देवी मंदिर एक प्राचीन गुफा मंदिर है, जो भारतीय महाकाव्य महाभारत के भीम की पत्नी हिडिम्बी देवी को समर्पित है। यह मनाली मे सबसे लोकप्रिय मंदिरो मे से एक है। इसे ढुंगरी मंदिर (Dhungiri Temple) के नाम से भी जाना जाता हैं। मनाली घूमने आने वाले सैलानी इस मंदिर को देखने जरूर आते है। यह मंदिर एक चार मंजिला संरचना है जो जंगल के बीच मे बना हुआ है। स्थानीय लोगो ने मंदिर का नाम आस-पास के वन क्षेत्र के नाम पर रखा है। हिल स्टेशन मे स्थित होने के कारण बर्फबारी के दौरान इस मंदिर को देखने के लिए काफी अधिक संख्या में पर्यटक यहाँ आते हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस मंदिर मे देवी या किसी भगवान की कोई मूर्ति स्थापित नही है बल्कि हिडिम्बा देवी मंदिर मे हिडिम्बा देवी के पदचिह्नो की पूजा की जाती है। तो आप यहाँ जरुर आये और यहाँ के मनमोहक दृश्य का जरुर आनन्द ले साथ ही साथ अपने मनाली टूर में इस स्थान को अपने सूचि में जोड़े |

भृगु झील – Bhrigu Lake, Manali

Bhrigu Lake, Manali mein ghumne ki jagal
Bhrigu Lake, Manali, Himachal Pradesh

भृगु झील मनाली मे स्थित एक मशहूर झील है जहाँ हर साल लाखो पर्यटक भृगु झील घूमने एवं इसके आस-पास ट्रैकिग का आनंद लेने आते है। भृगु झील मनाली का एक फेमस पर्यटन स्थल है जिसका नाम ऋषि भृगु के नाम पर पड़ा हैं ऐसा  कहा जाता है कि वे इस झील के पास ध्यान करते थे। भृगु झील को एक प्राचीन लोककथा के कारण इसे पूल ऑफ गॉड्स ’के रूप मे भी जाना जाता है लोककथा में बताया गया है कि देवताओं ने इसके पवित्र जल मे डुबकी लगाये थे |

भृगु झील रोहतांग दर्रे के पूर्व मे स्थित है और गुलाबा गांव से 6 किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ आपको ट्रेकिग करते हुवे जाना होता है। कुल्लू घाटी मे कई ग्लेशियल झीलो की तरह, यह झील एक आदर्श वीकेड ट्रेक और अपने परिवार के साथ पिकनिक के लिए सबसे अच्छी जगह है। यहां पर हर तरफ बर्फ से ढकी चोटियों के बीच स्थित इस झील की शांति आपको एक अद्भुद शुखद एहसास देती है। इसलिए आपको यहाँ जरुर जाना चाहिए तो आप अपने मनाली टूर में इस स्थान को आवश्य जोड़ ले |

इसे भी पढ़े :- मसूरी पहाडो कि रानी जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

मनाली गोम्पा – The manali gompa, Manali 

Manali Gompa, Manali mein ghumne ki jagah
Manali Gompa, Manali, Himachal Pradesh

मॉल के करीब, यह बौद्ध मठ अपने चमकीले रंगों से आपका स्वागत करता है। इसके प्रवेश द्वार पर एक बड़ी बुद्ध प्रतिमा, ताजा चित्रित अग्रभाग, कटे हुए लॉन और बुद्ध के जीवन को दर्शाती दीवार पर रंगीन भित्ति चित्र एक गहन आध्यात्मिक अनुभव प्रदान करते हैं। मठ 1960 के दशक की शुरुआत में बनाया गया था।

मनाली वाइल्ड लाइफ – Manali wildlife sanctuary, Manali

Manali wildlife sanctuary, Manali mein ghumne ki jagah
Manali wildlife sanctuary, Manali

देवदार, कैल, अखरोट और मेपल के पेड़ों का एक घना जंगल जो बहुत सारे शर्मीले हिमालयी वन्यजीवों को आश्रय देता है, प्रकृति प्रेमियों के लिए एक शानदार जगह है। अभयारण्य मनाली से 2 किमी दूर शुरू होता है। घने जंगल से घिरा हुआ एक लगाम वाला रास्ता आपको ढुंगरी मंदिर से वीर छप्पर तक ले जाता है। गैलेंट छप्पर से परे अल्पाइन घास के मैदान और ग्लेशियर आसपास के वन्यजीवों का निरीक्षण करने के लिए एक महान शिविर स्थल है। जिन पक्षियों और जानवरों और पक्षियों को देखा जा सकता है उनमें मोनाल, कस्तूरी मृग और भूरा भालू शामिल हैं। ग्रीष्मकाल के दौरान हिमरेखा तक आगे बढ़ते हुए, नीली भेड़, आइबेक्स और परिहारशील हिम तेंदुआ भी देखा जा सकता है।

इसे भी पढ़े :- नैनीताल एक जन्नत जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए

FAQ (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल):-

मनाली घूमने का सबसे अच्छा महीना कौन सा है?

मनाली घुमने के लिए सबसे अच्छा महीना मार्च से जून के बीच का होता है | क्योकि इस समय ना तो अत्यधिक ठण्ड और गर्मी तो होती ही नहीं है | परन्तु अगर आप बर्फ का मजा लेना चाहते हैं तो आपके लिए दिसंबर से फ़रवरी का महीना अच्छा है इस समय आप बर्फ के मजा ले सकते हैं | मानसून के समय जाने से बचे मानसून के समय यहाँ भू स्खलन होता है |

मनाली में करने के लिए क्या है?

मनाली में बेहतरीन दर्शनीय स्थल के साथ साथ प्राकृतक आनन्द और मजेदार खेल है | साहसिक खेल के साथ यहाँ करने के लिए बहुत से रोमंचिक चीजे हैं जैसे:-

लंबी पैदल यात्रा
माउंटेन बाइकिंग
पर्वतारोहण
ज़ोरबिंग
जीप सफारी
रिवर राफ्टिंग
पैराग्लाइडिंग
स्कीइंग

मनाली क्यों प्रसिद्ध है?

मनाली अपने प्राकृतिक वादियों, पहाडो और सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है और बर्फ प्रेमियों के लिए भी वरदान है यहाँ नए कपल हनीमून मानाने के लिए अत्यधिक आते हैं और हनीमून को यादगार बनाते हैं |  यहाँ आप आकार वादियों में खो जायेंगे आप प्राकृति से जुड़ा हुआ महसूस करेंगे जिसका अनुभव बहुत ही मनोरम है|

मनाली घूमाने में कितना खर्चा आयेगा?

मनाली घुमाने में खर्च आपके ऊपर है आप कहाँ से आ रहे हैं और कितने दिन का प्लान है | लेकिन अगर आप 2 दिन और 3 रात का प्लान बनाये है तो आपको प्रति व्यक्ति लगभग 10000 रूपये का खर्च आएगा|

कुल्लू मनाली घूमने में कितना खर्चा आता है?

कुल्लू मनाली घुमने में प्रति व्यक्ति लगभग 10000 रूपए खर्च होता है |

मनाली घूमने का सही समय कौन सा है?

मनाली घुमने के लिए सही समय  मार्च से जून के बीच का होता है | क्योकि इस समय ना तो अत्यधिक ठण्ड और गर्मी तो होती ही नहीं है | परन्तु अगर आप बर्फ का मजा लेना चाहते हैं तो आपके लिए दिसंबर से फ़रवरी का महीना अच्छा है इस समय आप बर्फ के मजा ले सकते हैं | मानसून के समय जाने से बचे मानसून के समय यहाँ भू स्खलन होता है |

मनाली में बर्फ कौन से महीने में गिरती है?

मनाली में बर्फ दिसंबर महीने से फ़रवरी महीने के बीच गिरती है यहाँ बर्फ का मजा लेना चाहते हैं तो इस महीने यहाँ यात्रा करने आ सकते हैं |

मनाली घूमने के लिए कितने दिन चाहिए?

मनाली घुमने के लिए 2-3 दिनों का प्लान बनाना चाहिए ताकि आप मनाली के प्रकितिक सौंदर्य से लेकर वादियों और झीलों का आनन्द ले सके| मनाली घुमने के लिए 2 दिन कम से कम चाहिए ताकि आप मनाली के सभी सथल घूम सके|

मनाली में होटल का किराया?

मनाली में होटल का किराया ज्यादा नहीं है ये आपके ऊपर है आप कितना खर्च कर सकते हैं ऐसे यहाँ ठहरने के लिए आपको 600 रुपये से लेकर 2500 रूपये को होटल आसानी से उपलब्ध हो जायेंगे|

मनाली कैसे पहुँचे?

कुल्लू देश के अन्य हिस्सों से सड़क और हवाई मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

रोडवेज: कुल्लू और मनाली में एचआरटीसी बस स्टैंड से सभी प्रमुख शहरों के लिए लगातार बसें उपलब्ध हैं। कोई भी स्थानीय टैक्सी स्टैंड से टैक्सी का लाभ उठा सकता है।

वायुमार्ग: कुल्लू वायुमार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है और भुंतर में कुल्लू-मनाली हवाई अड्डे से आने-जाने के लिए उड़ानें मिल सकती हैं। भुंतर कुल्लू से 10 किमी और मनाली से 50 किमी दूर है।

ट्रेन से:-  निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर है जो मंडी-पठानकोट मार्ग पर 120 किलोमीटर दूर एक संकीर्ण गेज ट्रैक है। कीरतपुर कुल्लू-चंडीगढ़ राजमार्ग पर 200 किलोमीटर दूर एक और रेलवे स्टेशन है।

  • कुल्लू राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या NH-21 पर है |
  • मंडी से कुल्लु कि दुरी -70 किमी है। 
  • चंडीगढ़ से मनाली कि दुरी -३३२ किमी 
  • दिल्ली से कुल्लू 570 किमी
  • शिमला से कुल्लू 260 किमी

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को मनाली में घूमने की जगह ( Manali Me Ghumne ki Jagah) (tourist places in manali) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद|

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

2 thoughts on “15+ मनाली में घूमने की जगह – Manali Tourist Places”

Leave a Comment