10+ कसोल में घूमने की जगह – Kasol Tourist Places

5/5 - (1 vote)

Kasol Tourist Places :- हिमाचल प्रदेश के कुल्लू ज़िले में स्थित कसोल, प्रकृति प्रेमियों के लिए एक स्वर्ग है। यह छोटा सा गांव पार्वती घाटी में स्थित है और अपनी प्राकृतिक सुंदरता, शांत वातावरण और रोमांचकारी गतिविधियों के लिए जाना जाता है। यदि आप प्रकृति के बीच कुछ समय बिताना चाहते हैं और अपनी आत्मा को तरोताजा करना चाहते हैं, तो कसोल आपके लिए एक आदर्श स्थान है।

कसोल में पर्यटन स्थल – Kasol Visit Places

कसोल एक ऐसा स्थान है जो आपको प्रकृति के करीब लाएगा और आपको अपनी आत्मा को तरोताजा करने का अवसर देगा। यदि आप प्रकृति प्रेमी हैं और रोमांचकारी गतिविधियों का आनंद लेते हैं, तो कसोल आपके लिए एक आदर्श स्थान है। तो चलिए जानते हैं कसोल में घूमने की जगह कौन कौन है :- 

1. चलय ट्रेक – Chalal Trek Trail, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

कसोल की सैर अधूरी है अगर आपने चलय ट्रेक का आनंद ना लिया हो। ये छोटा सा ट्रेक आपको प्रकृति के करीब ले जाता है और पार्वती घाटी की खूबसूरती दिखाता है। चलय ट्रेक कसोल से शुरू होता है। आप मुख्य बाज़ार से होते हुए चलय पुल पार कर के ट्रेक की शुरुआत कर सकते हैं। ट्रेक ज्यादातर समतल है और चलने में आसान है। रास्ते में आपको घने चीड़ के जंगल, खूबसूरत नदी किनारा और पार्वती नदी का मनमोहक दृश्य देखने को मिलेगा। रास्ते में कई छोटे कैफे भी हैं जहाँ आप आराम कर सकते हैं और कुछ खा सकते हैं। चलय ट्रेक कसोल घूमने आने वाले हर किसी के लिए एक शानदार अनुभव है। तो जब आप कसोल जाएं, तो चलय ट्रेक पर जाना ना भूलें!

2. पार्वती घाटी – Parvati Valley, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

पार्वती घाटी, हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में स्थित एक मनमोहक घाटी है। यह घाटी पर्वत शृंखलाओं से घिरी हुई है और पार्वती नदी इस घाटी से होकर बहती है। पार्वती घाटी अपनी प्राकृतिक सुंदरता, शांत वातावरण, धार्मिक स्थलों और रोमांचकारी गतिविधियों के लिए जानी जाती है।

3. मणिकरण – Manikaran, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

हिमाचल प्रदेश के कसोल में स्थित मणिकरण, पार्वती घाटी में बसा एक रमणीय गांव है। यह स्थान अपने प्राकृतिक सौंदर्य, धार्मिक महत्व और प्राकृतिक गर्म पानी के चमत्कारी कुंडों के लिए जाना जाता है। सदियों से, मणिकर्ण हिंदू और सिख दोनों धर्मों के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल रहा है। स्थानीय लोगों की मान्यता है कि इन कुंडों के पानी में स्नान करने से शारीरिक और मानसिक रोग दूर होते हैं।

4. गुरुद्वारा साहिब – Gurudwara Sahib, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

कसोल की मनमोहना पार्वती घाटी में स्थित, गुरुद्वारा साहिब सिखों और गैर-सिखों दोनों के लिए एक प्रमुख आध्यात्मिक स्थल है। यह न केवल धार्मिक महत्व रखता है बल्कि शांत वातावरण और आश्चर्यजनक दृश्यों के कारण पर्यटकों को भी अपनी ओर आकर्षित करता है।

5. कसोल पुल – Kasol Bridge, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

कसोल की खूबसूरती का अनुभव पार्वती नदी के किनारे बसे इस गांव के बिना अधूरा है। और कसोल पुल इस नदी के ऊपर से गुजरने का एक शानदार तरीका है। यह पुल न सिर्फ आवागमन का जरिया है, बल्कि अपने आप में एक दर्शनीय स्थल भी है। कसोल पुल एक साधारण लेकिन आकर्षक धातु और लकड़ी का पुल है। यह लगभग 50 मीटर लंबा और 2 मीटर चौड़ा है। पुल मोटर वाहनों के लिए नहीं बनाया गया है, बल्कि पैदल चलने वालों और बाइक सवारों के लिए उपयुक्त है। पुल से आप पार्वती नदी के मनोरम दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। नीचे बहती नदी की सर्द हवा और पहाड़ों की खूबसूरती मन को मोह लेती है।

6. नेचर पार्क कसोल – Nature Park Kasol, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

कसोल के बीचोंबीच, प्रकृति की खूबसूरती के बीच बसा हुआ है नेचर पार्क। ये वो जगह है जहां आप शहर की भागदौड़ से दूर शांति के कुछ पल बिता सकते हैं। हसीन पहाड़ों से घिरा हुआ ये पार्क पैदल चलने और प्रकृति का आनंद लेने के लिए एक आदर्श स्थान है।

7. कसोल झरना – Kasol Waterfall, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में स्थित कसोल, अपनी प्राकृतिक सुंदरता और रोमांचक गतिविधियों के लिए जाना जाता है। यहां का मुख्य आकर्षण है कसोल झरना, जो अपनी ऊंचाई और भव्यता के लिए प्रसिद्ध है। कसोल झरना लगभग 300 मीटर ऊंचा है। यह ऊंचाई से गिरते हुए पानी का नज़ारा देखने लायक होता है। झरने के आसपास का वातावरण शांत और मनोरम है। आप यहां बैठकर प्रकृति का आनंद ले सकते हैं। झरने तक पहुंचने के लिए आपको थोड़ी ट्रेकिंग करनी होगी। यह ट्रेक आसान है और आपको आसपास के पहाड़ों की खूबसूरती का नज़ारा दिखाता है।

8. श्री लॉर्ड शिव मंदिर – Shri Lord Shiva Temple, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

कसोल की खूबसूरत पार्वती घाटी में, न केवल रोमांचकारी गतिविधियां और प्राकृतिक नज़ारे हैं, बल्कि आध्यात्मिकता का स्पर्श भी है। कसोल के श्री लॉर्ड शिव मंदिर ऐसे ही एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल हैं। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है, जो हिंदू धर्म में प्रमुख देवताओं में से एक हैं। कसोल के श्री लॉर्ड शिव मंदिर का स्थानीय लोगों के लिए काफी महत्व है। यह मंदिर शिवभक्तों के लिए पूजा-अर्चना करने का एक प्रमुख केंद्र है।

9. नैना देवी मंदिर – Naina Bhagwati Mandir, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में स्थित नैना देवी मंदिर 51 शक्ति पीठों में से एक है। यह मंदिर देवी नैना देवी को समर्पित है, जो देवी सती का अवतार मानी जाती हैं। यहां आने वाले भक्तों को देवी का आशीर्वाद मिलता है और उनकी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। नैना देवी मंदिर एक पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर तक पहुंचने के लिए आपको 1000 से अधिक सीढ़ियां चढ़नी होंगी। मंदिर एक गुफा में स्थित है। गुफा के अंदर देवी नैना देवी की मूर्ति स्थापित है।

10. मलाणा गेट – Malana Gate, Kasol

कसोल में घूमने की जगह (Kasol Tourist Places)

मलाणा गेट, हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में स्थित मलाणा गांव का प्रवेश द्वार है। यह गेट न केवल एक भौगोलिक सीमा है, बल्कि यह एक अनोखी संस्कृति और प्राचीन परंपराओं का प्रतीक भी है। मलाणा गांव पर्यटकों के लिए एक आकर्षक स्थान है। यहां आकर आप प्राचीन संस्कृति का अनुभव कर सकते हैं और प्राकृतिक सुंदरता का आनंद ले सकते हैं। कहा जाता है कि मलाणा गेट का निर्माण महाभारत काल में हुआ था। यह गेट पांडवों और कौरवों के बीच युद्ध का गवाह रहा है।

FAQ (कसोल घूमने के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल):-

कसोल कहाँ है?

कसोल भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य में पार्वती घाटी में स्थित एक छोटा सा गाँव है। यह पार्वती नदी के तट पर, भुंतर और मणिकरण के बीच स्थित है। कसोल पर्यटकों, विशेष रूप से बैकपैकर्स और इज़राइली पर्यटकों के बीच एक लोकप्रिय स्थान है। 

कसोल घूमने का सबसे अच्छा समय क्या है?

कसोल घूमने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून तक होता है। इस समय मौसम सुहाना होता है और ट्रेकिंग जैसी गतिविधियों का आनंद लेने के लिए उपयुक्त होता है।

कसोल में क्या-क्या देखने लायक है?

कसोल एक खुबसूरत जगह है जहाँ आप प्राकृतिक वादियों, पहाडो और झरनों का मजा लेने के साथ साथ आप यहाँ ट्रकिंग भी कर सकते हैं यहाँ कुछ खास जगह जहाँ आपको जुरूर जाना चाहिए – चयल ट्रेक, कसोल पुल, नेचर पार्क, कसोल झरना, श्री लॉर्ड शिव मंदिर, मलाणा गेट इत्यादि प्रमुख है |

कसोल में कहां रुक सकते हैं?

कसोल में कई होटल, गेस्ट हाउस, और होमस्टे उपलब्ध हैं। आप अपनी सुविधा और बजट के अनुसार होटल चुन सकते हैं। यदि आप रोमांच का अनुभव करना चाहते हैं, तो आप पहाड़ों में कैम्पिंग कर सकते हैं।

कसोल घूमने में कितना खर्चा आयेगा?

कसोल घूमने का खर्चा आपकी यात्रा के समय और बजट पर निर्भर करता है | अनुमानित लो बजट 10 हजार – 15 हजार रूपये में आप 3-4 दिन के टूर के लिए लग सकता है | जिसमे आपके रहने, खाने , ट्रेकिंग गतिविधियाँ सामिल है |

कसोल कैसे पहुंचें?

कसोल पहुचने के लिए विभिन्न मार्ग है :-

  • हवाई जहाज: कसोल का निकटतम हवाई अड्डा भुंतर है, जो लगभग 33 किलोमीटर दूर है। आप हवाई जहाज से भुंतर पहुंचकर बस या टैक्सी द्वारा कसोल पहुंच सकते हैं।
  • ट्रेन: कसोल का निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर है, जो लगभग 144 किलोमीटर दूर है। आप ट्रेन से जोगिंदर नगर पहुंचकर बस या टैक्सी द्वारा कसोल पहुंच सकते हैं।
  • बस: दिल्ली, चंडीगढ़, और हिमाचल प्रदेश के अन्य शहरों से कसोल के लिए सीधी बसें उपलब्ध हैं।

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को कसोल में घूमने की जगह (kasol me ghumne ki Jagah) (tourist places in kasol) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

और भी पर्यटन स्थल के बारे मे जानकारी के लिए आप हमारे होम पेज पे जाकर किसी भी शहर के बारे मे सर्च कर घुमने की जगह के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट कसोल के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है |

Scroll to Top