10+ मदुरई में घूमने की जगह – Madurai Tourist Places

5/5 - (1 vote)

Madurai tourist places :-मदुरई, तमिलनाडु की एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से समृद्ध शहर है। यह शहर अपने भव्य मंदिरों, प्राचीन स्मारकों और जीवंत संस्कृति के लिए जाना जाता है। मदुरै में घूमने के लिए कई जगहें हैं |

मदुरई में दर्शनीय स्थल – Places to visit in Madurai

आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको मदुरई के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे | मदुरई में कौन से लोकप्रिय पर्यटन स्थल है क्या खास है वहाँ के बारे में ये सब हम आगे जानेंगे तो चलिए जानते हैं मदुरई में प्रमुख पर्यटन स्थल कौन कौन है :-  

Table of Contents

मीनाक्षी अम्मन मंदिर – Meenakshi Amman Temple, Madurai

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

मीनाक्षी अम्मन मंदिर भारत के सबसे बड़े और सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरई शहर में स्थित है। यह मंदिर देवी मीनाक्षी और भगवान सुंदरेश्वर को समर्पित है। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। मंदिर की स्थापना 6वीं शताब्दी में हुई थी, लेकिन वर्तमान संरचना 17वीं शताब्दी में बनाई गई थी। मंदिर में कई अलग-अलग गोपुरम हैं, जो प्रवेश द्वार हैं। सबसे बड़ा गोपुरम 165 फीट ऊंचा है। मंदिर परिसर में कई अन्य इमारतें भी हैं, जिनमें एक संग्रहालय, एक पुस्तकालय और एक हॉस्पिटल शामिल हैं। मीनाक्षी अम्मन मंदिर एक लोकप्रिय तीर्थ स्थल है। मंदिर में साल भर कई त्योहार और उत्सव मनाए जाते हैं। सबसे प्रसिद्ध त्योहार चितरई है, जो चैत्र महीने में मनाया जाता है। इस त्योहार के दौरान, मंदिर परिसर में एक विशाल जुलूस निकाला जाता है।

अरुल्मिगु सुब्रमण्य स्वामी मंदिर – Arulmigu Subramaniya Swami Temple

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

अरुल्मिगु सुब्रमण्य स्वामी मंदिर, जिसे तिरुप्परनकुंड्रम मुरुगन मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, भगवान मुरुगन को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरई शहर से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मंदिर को मुरुगन के छह निवासों में से एक माना जाता है। मंदिर की स्थापना 6वीं शताब्दी में हुई थी, लेकिन वर्तमान संरचना 17वीं शताब्दी में बनाई गई थी। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। मंदिर का मुख्य आकर्षण भगवान मुरुगन की मूर्ति है। मूर्ति 12 फीट ऊंची है और यह एक शानदार रथ पर बैठी हुई है। मंदिर परिसर में कई अन्य मंदिर भी हैं, जिनमें देवी देवसेना को समर्पित एक मंदिर भी शामिल है।

श्री कोउडल अज़गर मंदिर – Shri Koodal Azhagar Temple, Madurai

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

श्री कोउडल अज़गर मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरई शहर में स्थित है। मंदिर को भगवान शिव के छह निवासों में से एक माना जाता है।मंदिर की स्थापना 12वीं शताब्दी में हुई थी। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। मंदिर का मुख्य आकर्षण भगवान शिव की मूर्ति है। मूर्ति 10 फीट ऊंची है और यह एक शानदार रथ पर बैठी हुई है। मंदिर परिसर में कई अन्य मंदिर भी हैं, जिनमें देवी पार्वती को समर्पित एक मंदिर भी शामिल है।

तिरुमलई नायक पैलेस – Thirumalai Nayakkar Palace, Madurai

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

तिरुमलई नायक पैलेस तमिलनाडु के मदुरै शहर में स्थित एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से महत्वपूर्ण महल है। यह 17वीं शताब्दी में नायक राजवंश द्वारा बनाया गया था। महल की वास्तुकला इंडो-सारसेनिक शैली में है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। महल का मुख्य आकर्षण स्वर्गविलास है, जो एक विशाल हॉल है जो संगमरमर और नक्काशीदार लकड़ी से बना है। हॉल की छत पर कई सुंदर चित्र और मूर्तियां हैं। महल परिसर में कई अन्य इमारतें भी हैं, जिनमें एक संग्रहालय, एक पुस्तकालय और एक हॉस्पिटल शामिल हैं। तिरुमलई नायक पैलेस एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। महल में साल भर कई त्योहार और उत्सव मनाए जाते हैं। सबसे प्रसिद्ध त्योहार दिसंबर में आयोजित होने वाला लाइट एंड साउंड शो है। इस शो में रोशनी और ध्वनि के माध्यम से राजा के जीवन और उनके मदुरै में शासन के बारे में बताया जाता है।

गांधी मेमोरियल संग्रहालय – Gandhi Memorial Museum, Madurai

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

गांधी मेमोरियल संग्रहालय भारत के महात्मा गांधी को समर्पित एक संग्रहालय है। यह तमिलनाडु के मदुरै शहर में स्थित है। संग्रहालय में गांधीजी के जीवन और कार्यों से संबंधित कई वस्तुएं और दस्तावेज हैं।संग्रहालय की स्थापना 1959 में हुई थी। संग्रहालय में गांधीजी के जीवन और कार्यों से संबंधित कई प्रदर्शन हैं। इनमें उनकी तस्वीरें, पत्र, भाषण और अन्य दस्तावेज शामिल हैं। संग्रहालय में गांधीजी के उपयोग किए गए कई सामान भी प्रदर्शित हैं, जिनमें उनके कपड़े, जूते और टाइपिंग मशीन शामिल हैं। गांधी मेमोरियल संग्रहालय एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। संग्रहालय में साल भर कई कार्यक्रम और गतिविधियां आयोजित की जाती हैं। सबसे प्रसिद्ध कार्यक्रम गांधी जयंती है, जो 2 अक्टूबर को मनाया जाता है। इस दिन, संग्रहालय में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जाता है जिसमें गांधीजी के जीवन और कार्यों का जश्न मनाया जाता है।

अज़गर कोविल – Azhagar Kovil, Madurai

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

अज़गर कोविल भगवान शिव को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह तमिलनाडु के मदुरई शहर में स्थित है। मंदिर को भगवान शिव के छह निवासों में से एक माना जाता है।मंदिर की स्थापना 12वीं शताब्दी में हुई थी। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। मंदिर का मुख्य आकर्षण भगवान शिव की मूर्ति है। मूर्ति 10 फीट ऊंची है और यह एक शानदार रथ पर बैठी हुई है। मंदिर परिसर में कई अन्य मंदिर भी हैं, जिनमें देवी पार्वती को समर्पित एक मंदिर भी शामिल है।

वंदियूर मरिअम्मन तेप्पकुलम – Vandiyur Mariamman Teppakulam

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

वंदियूर मरिअम्मन तेप्पकुलम मदुरै शहर में एक खूबसूरत तालाब है। यह तालाब देवी मरिअम्मन को समर्पित है, जो एक लोकप्रिय हिंदू देवी हैं। तालाब को 17वीं शताब्दी में नायक राजवंश द्वारा बनाया गया था। तालाब में कई मंडप हैं, जिनमें देवी मरिअम्मन की मूर्तियां हैं। तालाब के चारों ओर एक सुंदर बगीचा भी है। वंदियूर मरिअम्मन तेप्पकुलम एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। तालाब को अक्सर शादी और अन्य समारोहों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

सामनार जैन पहाड़ियाँ – Samanar Jain Hills, Keelakuyilkudi

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

सामनार जैन पहाड़ियाँ मदुरई शहर के पास एक खूबसूरत जगह है। यह पहाड़ियाँ जैन धर्म के लिए एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल हैं। यहां कई प्राचीन जैन मंदिर और मूर्तियां हैं।सामनार जैन पहाड़ियों की स्थापना 7वीं शताब्दी में हुई थी। पहाड़ियों का नाम जैन धर्म के एक महान संत, सामनार के नाम पर रखा गया है। कहा जाता है कि सामनार ने इन पहाड़ियों पर ध्यान किया और कई महत्वपूर्ण ग्रंथ लिखे। सामनार जैन पहाड़ियों में कई प्राचीन जैन मंदिर हैं। इनमें से सबसे प्रसिद्ध मंदिर श्री पद्मनाभ मंदिर है। यह मंदिर भगवान पार्श्वनाथ को समर्पित है। मंदिर में कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। सामनार जैन पहाड़ियों में कई प्राचीन जैन मूर्तियां भी हैं। इनमें से सबसे प्रसिद्ध मूर्ति श्री पार्श्वनाथ की मूर्ति है। यह मूर्ति 10 फीट ऊंची है और यह संगमरमर से बनी हुई है।

पज़हमुधिर चोलाई मुरुगन मंदिर – Pazhamudhircholai Murugan Temple

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

पज़हमुधिर चोलाई मुरुगन मंदिर मदुरई शहर के पास एक खूबसूरत पहाड़ी पर स्थित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर भगवान मुरुगन को समर्पित है, जो एक लोकप्रिय हिंदू भगवान हैं। मंदिर की स्थापना 11वीं शताब्दी में हुई थी। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। मंदिर का मुख्य आकर्षण भगवान मुरुगन की मूर्ति है। मूर्ति 10 फीट ऊंची है और यह एक शानदार रथ पर बैठी हुई है। मंदिर परिसर में कई अन्य मंदिर भी हैं, जिनमें देवी पार्वती और देवी काली को समर्पित मंदिर भी शामिल हैं।

सेंट मैरी कैथेड्रल – St. Mary’s Cathedral, Madurai

मदुरई में घुमने की जगह (madurai me ghumne ki jagah)

सेंट मैरी कैथेड्रल मदुरई शहर में एक रोमन कैथोलिक कैथेड्रल है। यह शहर के सबसे पुराने चर्चों में से एक है और यह तमिलनाडु के सबसे बड़े कैथोलिक चर्चों में से एक है। कैथेड्रल की स्थापना 1706 में हुई थी। कैथेड्रल की वास्तुकला गोथिक शैली में है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। कैथेड्रल का मुख्य आकर्षण मैरी की मूर्ति है। मूर्ति संगमरमर से बनी हुई है और यह 10 फीट ऊंची है। सेंट मैरी कैथेड्रल एक लोकप्रिय तीर्थ स्थल है। कैथेड्रल में साल भर कई त्योहार और उत्सव मनाए जाते हैं। सबसे प्रसिद्ध त्योहार गुड फ्राइडे है, जो ईस्टर से पहले के शुक्रवार को मनाया जाता है। इस दिन, कैथेड्रल में एक विशेष सेवा आयोजित की जाती है जिसमें ईसा मसीह के क्रूस पर चढ़ने की याद की जाती है।

FAQ (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल) :-

मदुरई में फेमस क्या है?

मदुरई एक प्राचीन शहर है जो अपनी समृद्ध संस्कृति और इतिहास के लिए जाना जाता है। यहां कई प्रसिद्ध मंदिर, चर्च और अन्य ऐतिहासिक स्थल हैं। मदुरै में कुछ लोकप्रिय आकर्षणों में शामिल हैं: मीनाक्षी मंदिर, अज़गर कोविल, वंदियूर मरिअम्मन तेप्पकुलम, सामनार जैन पहाड़ियाँ, पज़हमुधिर चोलाई मुरुगन मंदिर, सेंट मैरी कैथेड्रल इत्यादि |

मदुरई में देखने जैसा क्या है?

मदुरई में देखने और करने के लिए बहुत कुछ है। यहां कुछ सबसे लोकप्रिय आकर्षणों पर एक नज़र है: मीनाक्षी मंदिर, अज़गर कोविल, वंदियूर मरिअम्मन तेप्पकुलम, सामनार जैन पहाड़ियाँ, पज़हमुधिर चोलाई मुरुगन मंदिर, सेंट मैरी कैथेड्रल इत्यादि |

मदुरई देखने के लिए आपको कितने दिन चाहिए?

मदुरई में देखने के लिए बहुत कुछ है, यदि आप केवल मदुरै मीनाक्षी मंदिर और अज़गर कोविल जैसे सबसे लोकप्रिय आकर्षणों को देखना चाहते हैं, तो आपको 2-3 दिन पर्याप्त हो सकते हैं। यदि आप शहर के अन्य ऐतिहासिक स्थलों और मंदिरों को भी देखना चाहते हैं, तो आपको 4-5 दिन की आवश्यकता हो सकती है। और यदि आप मदुरै के व्यंजन और संस्कृति का भी अनुभव करना चाहते हैं, तो आपको 6-7 दिन की आवश्यकता हो सकती है।

मदुरई का प्रसिद्ध मंदिर कौन सा है?

मदुरै का सबसे प्रसिद्ध मंदिर मदुरै मीनाक्षी मंदिर है। यह भगवान शिव और उनकी पत्नी देवी मीनाक्षी को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर भारत के सबसे बड़े और सबसे महत्वपूर्ण मंदिरों में से एक है।

मीनाक्षी मंदिर जाने का सही समय क्या है?

यदि आप मंदिर की वास्तुकला और कलाकृति का आनंद लेना चाहते हैं, तो आपको सुबह या शाम को मंदिर जाने की कोशिश करनी चाहिए। दिन के दौरान, मंदिर बहुत भीड़भाड़ वाला हो सकता है और आप मंदिर के सभी हिस्सों को देखने में सक्षम नहीं हो सकते हैं। सुबह: मंदिर सुबह 6 बजे खुलता है और सुबह 9 बजे तक भीड़ कम होती है।

क्या मदुरई में समुद्र तट है?

नहीं, मदुरईमदुरै में समुद्र तट नहीं है। मदुरै तमिलनाडु राज्य के मध्य में स्थित है और यह अरब सागर से लगभग 100 किलोमीटर दूर है। मदुरै शहर का सबसे निकटतम समुद्र तट रामेश्वरम है, जो लगभग 200 किलोमीटर दूर है। रामेश्वरम एक लोकप्रिय तीर्थ स्थल है और यह भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है।

मदुरई घुमने का खर्चा?

मदुरई घूमने का खर्चा आपके बजट और यात्रा की अवधि पर निर्भर करता है। यहां एक अनुमानित बजट है जो आपको एक विचार दे सकता है कि मदुरै घूमने में कितना खर्च हो सकता है | औसतन 80000 से 120000 के बीच हो सकता है |

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को मदुरई में घूमने की जगह (madurai Me Ghumne ki Jagah) (tourist places in madurai) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

और भी पर्यटन स्थल के बारे मे जानकारी के लिए आप हमारे होम पेज पे जाकर किसी भी शहर के बारे मे सर्च कर घुमने कि जगह के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट मदुरई के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है।

Leave a Comment