10+ अमरकंटक में घूमने की जगह – Amarkantak Tourist Places

5/5 - (1 vote)

Amarkantak Tourist Places :- अमरकंटक मध्य प्रदेश राज्य का एक लोकप्रिय तीर्थ और पर्यटन स्थल है। यह भारत के तीन प्रमुख नदियों – नर्मदा, सोन और बेतवा – का उद्गम स्थल है। अमरकंटक अपने प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। यहां घूमने के लिए कई बेहतरीन स्थान हैं।

अमरकंटक में घूमने वाली जगह – Places to visit in Amarkantak, MP.

अमरकंटक एक खुबसुरत शहर है अगर आप अमरकंटक घूमने के बारे में सोच रहें है या प्लान बना रहें है तो आज का आर्टिकल आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है इस ब्लॉग पोस्ट के द्वारा आज हम आपको अमरकंटक में घूमने के लिए कौन कौन से प्रमुख पर्यटन स्थल है उनके बारे में पुरी जानकारी देंगे ताकि आप अमरकंटक आसानी से घूम सके तो चलिए हम जानते हैं अमरकंटक में प्रमुख दर्शनीय स्थल कौन कौन है और क्या खास है यहाँ घूमने के लिए:-  

Table of Contents

1. कलचुरी समूह के प्राचीन मंदिर – Ancient Temples Of Kalachuri group

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

कलचुरी समूह के प्राचीन मंदिर अमरकंटक के सबसे महत्वपूर्ण ऐतिहासिक स्थलों में से एक हैं। ये मंदिर 10वीं से 12वीं शताब्दी के बीच कलचुरी राजाओं द्वारा बनवाए गए थे। इन मंदिरों में भगवान शिव, भगवान विष्णु और देवी दुर्गा को समर्पित मंदिर शामिल हैं। कलचुरी समूह के प्राचीन मंदिरों में शामिल हैं:- नर्मदा मंदिर, महादेव मंदिर, विश्वेश्वर मंदिर, दुर्गा मंदिर इत्यादि है| कलचुरी समूह के प्राचीन मंदिर अपने सुंदर वास्तुकला और शिल्प के लिए प्रसिद्ध हैं। इन मंदिरों में विभिन्न प्रकार की मूर्तियां और नक्काशी की गई हैं। ये मंदिर अमरकंटक की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

2. नर्मदा उद्गम स्थल – Narmada Udgam Sthal, Amarkantak Tour

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

नर्मदा उद्गम स्थल अमरकंटक का सबसे प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है। यह मंदिर नर्मदा नदी के उद्गम स्थल पर स्थित है। मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। मंदिर के पास एक पवित्र कुंड है, जिसे नर्मदा कुंड कहा जाता है। यह माना जाता है कि इस कुंड में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है।नर्मदा उद्गम स्थल एक खूबसूरत जगह है। यहां का प्राकृतिक दृश्य अद्भुत है। यहां आकर आप नर्मदा नदी के उद्गम को देख सकते हैं और नर्मदा कुंड में स्नान कर सकते हैं।

3. अमरकंटक मंदिर – Amarkantak Temple

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

अमरकंटक मंदिर अमरकंटक का सबसे प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है। यह मंदिर नर्मदा नदी के उद्गम स्थल पर स्थित है। मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। मंदिर के पास एक पवित्र कुंड है, जिसे नर्मदा कुंड कहा जाता है। यह माना जाता है कि इस कुंड में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। अमरकंटक मंदिर का निर्माण 10वीं शताब्दी में किया गया था। मंदिर का निर्माण कलचुरी राजाओं द्वारा किया गया था। मंदिर का निर्माण लाल बलुआ पत्थर से किया गया है। मंदिर की वास्तुकला सुंदर और आकर्षक है।

4. सोनमुदा अमरकंटक – Sonmuda Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

सोनमुड़ा अमरकंटक से लगभग 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक खूबसूरत पहाड़ी है। यह पहाड़ी अपने लुभावने प्राकृतिक दृश्यों के लिए प्रसिद्ध है। सोनमुड़ा से आसपास के पहाड़ों, नदियों और जंगलों का अद्भुत दृश्य दिखाई देता है। सोनमुड़ा एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल भी है। यहां लोग परिवार और दोस्तों के साथ आकर समय बिताते हैं। सोनमुड़ा पर कई छोटे-छोटे मंदिर और शिवलिंग भी स्थित हैं।

5. यंत्र मंदिर – Yantra Mandir, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

यंत्र मंदिर अमरकंटक का एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। मंदिर में एक विशाल श्री यंत्र स्थापित है। माना जाता है कि इस यंत्र के दर्शन से मनुष्य को सभी प्रकार के कष्टों से मुक्ति मिलती है। यंत्र मंदिर एक गोलाकार परिसर में स्थित है। परिसर के चारों ओर दीवारें हैं और अंदर एक खुला स्थान है। परिसर के केंद्र में श्री यंत्र स्थापित है। श्री यंत्र एक पवित्र प्रतीक है जो हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण है।

6. कपिलधारा जलप्रपात – Kapil Falls, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

कपिलधारा जलप्रपात अमरकंटक का एक और लोकप्रिय पर्यटक स्थल है। यह जलप्रपात नर्मदा नदी के किनारे स्थित है। जलप्रपात की ऊंचाई लगभग 100 फीट है। जलप्रपात के नीचे एक सुंदर झील बनी हुई है। 

7. सर्वोदय दिगंबर जैन मंदिर – Sarvodaya Digambar Jain Temple, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

सर्वोदय दिगंबर जैन मंदिर अमरकंटक का एक विशाल जैन मंदिर है। यह मंदिर भगवान आदिनाथ को समर्पित है। मंदिर में 24 टन वजनी एक विशाल अष्टधातु की प्रतिमा स्थापित है। यह प्रतिमा विश्व की सबसे बड़ी अष्टधातु की प्रतिमाओं में से एक है। मंदिर का निर्माण 2006 में शुरू हुआ था और 2013 में पूरा हुआ था। मंदिर का निर्माण जैन धर्म के 108वें आचार्य विद्यासागरजी महाराज के निर्देशन में किया गया था। सर्वोदय दिगंबर जैन मंदिर एक लोकप्रिय तीर्थस्थल है। यहां हर साल हजारों जैन श्रद्धालु आते हैं। मंदिर में दर्शन के लिए कोई शुल्क नहीं है।

8. माई की बगिया – Mai Ki Bagiya, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

माई की बगिया अमरकंटक का एक खूबसूरत उद्यान है। यह उद्यान भगवान शिव की पत्नी पार्वती को समर्पित है। उद्यान में कई प्रकार के फूल, पेड़ और पौधे हैं। उद्यान के बीच में एक सुंदर मंदिर है। माई की बगिया का निर्माण 1960 के दशक में किया गया था। उद्यान का नाम पार्वती को दिया गया है, जिन्हें “माई” भी कहा जाता है। माई की बगिया एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यहां हर साल हजारों पर्यटक आते हैं। उद्यान में प्रवेश निःशुल्क है।

9. नर्मदा मंदिर – Narmada Temple, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

नर्मदा मंदिर अमरकंटक का एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है। यह मंदिर नर्मदा नदी के उद्गम स्थल पर स्थित है। मंदिर भगवान शिव और देवी नर्मदा को समर्पित है। मंदिर के पास एक पवित्र कुंड है, जिसे नर्मदा कुंड कहा जाता है। यह माना जाता है कि इस कुंड में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है।दिर का निर्माण लाल बलुआ पत्थर से किया गया है। मंदिर की वास्तुकला सुंदर और आकर्षक है।

10. शिव मंदिर – Shiv Mandir, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

शिव मंदिर अमरकंटक का एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। मंदिर अमरकंटक पहाड़ियों की तलहटी में स्थित है। मंदिर की वास्तुकला सुंदर और आकर्षक है। मंदिर के चारों ओर एक विशाल प्रांगण है। शिव मंदिर का निर्माण 10वीं शताब्दी में किया गया था। मंदिर का निर्माण कलचुरी राजाओं द्वारा किया गया था। मंदिर का निर्माण लाल बलुआ पत्थर से किया गया है। मंदिर के गर्भगृह में भगवान शिव की एक विशाल मूर्ति स्थापित है।

11. कल्याण सेवा आश्रम – Kalyan Sewa Ashram, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

कल्याण सेवा आश्रम अमरकंटक का एक प्रसिद्ध धार्मिक और सामाजिक संस्थान है। यह आश्रम सामाजिक कार्यों में सक्रिय है और गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करता है। आश्रम में एक मंदिर, एक स्कूल, एक अस्पताल और एक अनाथालय है। कल्याण सेवा आश्रम एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यहां हर साल हजारों लोग आते हैं। आश्रम में दर्शन और विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए कोई शुल्क नहीं है।

12. मृत्युंजय आश्रम – Mrityunjay Ashram, Amarkantak

अमरकंटक में घूमने की जगह (Amarkantak Tourist Places Hindi)

मृत्युंजय आश्रम अमरकंटक का एक प्रसिद्ध धार्मिक संस्थान है। यह आश्रम मृत्युंजय महादेव मंदिर के पास स्थित है। आश्रम में एक मंदिर, एक गुरुकुल, एक पुस्तकालय और एक ध्यान केंद्र है। आश्रम का उद्देश्य लोगों को आध्यात्मिक ज्ञान और साधना के मार्ग पर ले जाना है। आश्रम ने शिक्षा, धर्म और संस्कृति के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। मृत्युंजय आश्रम एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यहां हर साल हजारों लोग आते हैं। आश्रम में दर्शन और विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए कोई शुल्क नहीं है।

FAQ (अमरकंटक घूमने के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल) :-

अमरकंटक कहाँ है?

अमरकंटक मध्य प्रदेश राज्य के अनूपपुर जिले में स्थित एक नगर है। यह विंध्य पर्वतमाला व सतपुड़ा पर्वतमाला के मिलनक्षेत्र पर मैकल पर्वतमाला में स्थित है। यहाँ से नर्मदा नदी, सोन नदी और जोहिला नदी (सोन की उपनदी) का उद्गम होता है।

अमरकंटक कैसे पहुंचे?

अमरकंटक का निकटतम रेलवे स्टेशन अनूपपुर है। अनूपपुर से अमरकंटक के लिए बसें और टैक्सियां उपलब्ध हैं।अमरकंटक को देश के कई प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग से भी जोड़ा गया है। यहां पहुंचने के लिए बस, टैक्सी या निजी वाहन का उपयोग किया जा सकता है।

अमरकंटक जाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

अमरकंटक घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच का है। इस समय मौसम सुहावना रहता है और बारिश नहीं होती है।

अमरकंटक में घूमने की जगह कौन कौन है?

अमरकंटक भारत की तीन प्रमुख नदियों – नर्मदा, सोन और बेतवा – का उद्गम स्थल है। यह अपने प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। यहां घूमने के लिए कई बेहतरीन स्थान हैं, जिनमें शामिल हैं:- अमरकंटक मंदिर, नर्मदा मंदिर, शिव मंदिर, नर्मदा उद्गम मंदिर, यंत्र मंदिर, माई की बगिया इत्यादि प्रमुख है|

अमरकंटक जाने के लिए कितने दिन चाहिए?

अमरकंटक जाने के लिए कितने दिन चाहिए, यह आपके रुचि और समय पर निर्भर करता है। यदि आप अमरकंटक के प्रमुख स्थानों को घूमना चाहते हैं, तो आपको कम से कम 2 दिन की आवश्यकता होगी। यदि आप अमरकंटक के आसपास के अन्य स्थानों को भी घूमना चाहते हैं, तो आपको 3-4 दिन की आवश्यकता होगी।

अमरकंटक में कहां ठहरें?

अमरकंटक में कई होटल, रिसॉर्ट्स और धर्मशालाएं हैं। अपनी बजट और सुविधा के अनुसार आप यहां ठहर सकते हैं।

अमरकंटक में क्या खाएं?

अमरकंटक में स्थानीय व्यंजनों का स्वाद लेना न भूलें। यहां आपको कई तरह के स्वादिष्ट व्यंजन मिलेंगे, जिनमें शामिल हैं: ढोकला, बटाटा वड़ा, साबूदाना वड़ा, खिचड़ी, दाल-चावल, सब्जी, रोटी इत्यादि |

अमरकंटक घूमने में कितना खर्च आता है?

अमरकंटक घूमने का खर्च आपके बजट और यात्रा की अवधि पर निर्भर करता है। ऐसे अनुमानत: लगभग 10 हजार रूपये घूमने का खर्च आयेगा| 

अमरकंटक जाने के लिए कौन सी ट्रेन है?

अमरकंटक जाने के लिए कई ट्रेनें हैं। इनमें से कुछ प्रमुख ट्रेनें इस प्रकार हैं:

  • 12853 अमरकंटक एक्स्प्रेस: यह ट्रेन भोपाल से अनूपपुर के लिए चलती है। अनूपपुर से अमरकंटक के लिए बसें और टैक्सियां उपलब्ध हैं।
  • 12854 अमरकंटक एक्स्प्रेस: यह ट्रेन अनूपपुर से भोपाल के लिए चलती है।
  • 20843 बालाघाट एक्सप्रेस: यह ट्रेन रायपुर से अनूपपुर के लिए चलती है। अनूपपुर से अमरकंटक के लिए बसें और टैक्सियां उपलब्ध हैं।
  • 20844 बालाघाट एक्सप्रेस: यह ट्रेन अनूपपुर से रायपुर के लिए चलती है।
  • इनके अलावा, अमरकंटक के लिए कई लोकल ट्रेनें भी चलती हैं।

अमरकंटक का निकटतम रेलवे स्टेशन अनूपपुर है। अनूपपुर से अमरकंटक की दूरी लगभग 80 किलोमीटर है।

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को अमरकंटक में घूमने की जगह (amarkantak me Ghumne ki Jagah) (tourist places in amarkantak) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट अमरकंटक के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है। 

Scroll to Top