10+ शहडोल में घूमने की जगह – Shahdol Tourist Places in Hindi

5/5 - (1 vote)

Shahdol Tourist Places :- शहडोल मध्य प्रदेश के पूर्वी भाग में स्थित एक खूबसूरत शहर है। यह शहर अपने प्राकृतिक सौंदर्य, ऐतिहासिक महत्व और सांस्कृतिक विरासत के लिए जाना जाता है। शहडोल में घूमने के लिए कई जगहें हैं |

शहडोल में घूमने वाली जगह – Places to visit in Shahdol, MP.

शहडोल एक खुबसुरत शहर है अगर आप शहडोल घूमने के बारे में सोच रहें है या प्लान बना रहें है तो आज का आर्टिकल आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है इस ब्लॉग पोस्ट के द्वारा आज हम आपको शहडोल में घूमने के लिए कौन कौन से प्रमुख पर्यटन स्थल है उनके बारे में पुरी जानकारी देंगे ताकि आप शहडोल आसानी से घूम सके तो चलिए हम जानते हैं शहडोल में प्रमुख दर्शनीय स्थल कौन कौन है और क्या खास है यहाँ घूमने के लिए:- 

1. बाणसागर बांध – Bansagar Dam, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

बाणसागर बांध शहडोल जिले का सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह बांध सोन नदी पर बना हुआ है और यह एक बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजना है। बाणसागर बांध के आसपास का क्षेत्र प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है। यहां आप नौका विहार, मछली पकड़ने और प्रकृति की सुंदरता का आनंद ले सकते हैं।

2. विराट मंदिर – Virat Mandir, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

विराट मंदिर भगवान शिव का एक प्राचीन और भव्य मंदिर है। यह मंदिर शहडोल जिले के सोहागपुर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 11वीं सदी में किया गया था। मंदिर की दीवारों पर खूबसूरत कलाकृतियां देखने को मिलती हैं। यह मंदिर खजुराहो के मंदिरों की तरह ही कामुक मुद्रा में नायक-नायकों की मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है।

3. कंकाली मंदिर – Kankali Temple, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

कंकाली मंदिर माता कंकाली का एक प्राचीन मंदिर है। यह मंदिर शहडोल जिले के सोहागपुर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 10वीं सदी में किया गया था। मंदिर की दीवारों पर खूबसूरत कलाकृतियां देखने को मिलती हैं। यह मंदिर अपने कंकाल की मूर्ति के लिए प्रसिद्ध है।

4. पंचमठा – Panchmatha, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

पंचमठा एक प्राचीन जैन मंदिर है। यह मंदिर शहडोल जिले के सोहागपुर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 10वीं सदी में किया गया था। मंदिर की दीवारों पर खूबसूरत कलाकृतियां देखने को मिलती हैं। यह मंदिर अपने पांच मठों के लिए प्रसिद्ध है।

5. सिंहपुर – Singhpur, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

सिंहपुर एक प्राचीन किला है। यह किला शहडोल जिले के सोहागपुर में स्थित है। इस किले का निर्माण 14वीं सदी में किया गया था। किले के अंदर एक खूबसूरत मंदिर भी स्थित है।

6. लखबरिया गुफा – Lakhbariya Cave, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

शहडोल जिले के बुढ़ार तहसील के अंतर्गत स्थित लखबरिया गुफा एक प्राचीन गुफा है, जो अपने ऐतिहासिक महत्व और प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जानी जाती है। यह गुफा एक लाख गुफाओं के लिए प्रसिद्ध है। लखबरिया गुफा का निर्माण लाल बलुआ पत्थर से किया गया है। गुफा की लंबाई लगभग 300 मीटर और चौड़ाई लगभग 200 मीटर है। गुफा के अंदर कई छोटे-छोटे मंदिर और मूर्तियां हैं। गुफा के अंदर एक प्राचीन शिवलिंग भी स्थित है।

7. क्षीर सागर – Kshira Sagar, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

शहडोल जिले के अंतर्गत स्थित क्षीर सागर एक प्राकृतिक झील है, जो अपने प्राकृतिक सौंदर्य और पिकनिक स्थल के लिए जानी जाती है। यह झील मुड़ना और सोन नदियों के संगम पर स्थित है। क्षीर सागर झील का क्षेत्रफल लगभग 10 वर्ग किलोमीटर है। झील के किनारे कई छोटे-छोटे द्वीप हैं। झील के किनारे कई पेड़-पौधे और घास भी हैं। क्षीर सागर झील एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल है। यहां हर साल हजारों पर्यटक आते हैं। यहां आप नौका विहार, मछली पकड़ने, और पिकनिक का आनंद ले सकते हैं।

8. मरखी माता मंदिर – Markhi Mata Temple, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

शहडोल जिले के केशवाही के पास जमुनिहा नामक स्थान पर स्थित मरखी माता मंदिर एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर देवी धूमावती को समर्पित है, जिन्हें हिंदू धर्म में देवी दुर्गा की सातवीं शक्ति माना जाता है। मरखी माता मंदिर का निर्माण कब हुआ, इसकी कोई निश्चित जानकारी नहीं है, लेकिन माना जाता है कि यह मंदिर बहुत पुराना है। मंदिर का निर्माण लाल बलुआ पत्थर से किया गया है और यह एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित है। मंदिर के गर्भगृह में देवी धूमावती की एक प्राचीन प्रतिमा स्थापित है। यह प्रतिमा बहुत ही सुंदर और आकर्षक है।

9. सरफा डैम – Sarfa Dam, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

शहडोल जिले के अंतर्गत स्थित सरफा डैम एक खूबसूरत बांध है, जो अपने प्राकृतिक सौंदर्य और पिकनिक स्थल के लिए जानी जाती है। यह बांध सोन नदी पर बना हुआ है। सरफा डैम का निर्माण 1962 में किया गया था। बांध की ऊंचाई लगभग 30 मीटर और लंबाई लगभग 2 किलोमीटर है। बांध के आसपास का क्षेत्र प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर है। यहां आप नौका विहार, मछली पकड़ने, और पिकनिक का आनंद ले सकते हैं।

10. जिला पुरातत्व संग्रहालय – District Archaeological Museum, Shahdol

शहडोल में घूमने की जगह (Shahdol Tourist Places)

शहडोल जिले में स्थित जिला पुरातत्व संग्रहालय एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थल है। इस संग्रहालय में शहडोल और आसपास के क्षेत्रों से प्राप्त प्राचीन और मध्यकालीन काल की कई महत्वपूर्ण कलाकृतियां और अवशेषों का संग्रह है। जिला पुरातत्व संग्रहालय की स्थापना 1981 में की गई थी। इस संग्रहालय में शहडोल और आसपास के क्षेत्रों से प्राप्त विभिन्न प्रकार की कलाकृतियां और अवशेषों का संग्रह है। इन कलाकृतियों और अवशेषों में मूर्तियां, शिलालेख, सिक्के, औजार, हथियार, और अन्य वस्तू शामिल हैं। 

FAQ (शहडोल घूमने के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल) :-

शहडोल कहाँ है?

शहडोल मध्य प्रदेश के मध्य में स्थित एक जिला है। यह जिला उत्तर में सतना, दक्षिण में अनूपपुर, पूर्व में सीधी और पश्चिम में उमरिया से घिरा हुआ है।

शहडोल में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय कब है?

शहडोल में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच का होता है। इस समय मौसम सुहावना होता है और पर्यटकों की भीड़ कम होती है।

शहडोल में घूमने के लिए कितना समय चाहिए?

शहडोल में घूमने के लिए कितना समय चाहिए, यह आपके रुचियों और बजट पर निर्भर करता है। अगर आप शहडोल के प्रमुख पर्यटन स्थलों को देखना चाहते हैं, तो आपको कम से कम 3 से 4 दिन चाहिए।

शहडोल में कौन सी नदी है?

शहडोल में सोन नदी बहती है। सोन नदी भारत की सबसे लंबी नदियों में से एक है। यह नदी मध्य प्रदेश, बिहार और उत्तर प्रदेश से होकर बहती है। शहडोल में सोन नदी पर सरफा बांध बना हुआ है। यह बांध सिंचाई और बिजली उत्पादन के लिए उपयोग किया जाता है।

शहडोल कैसे पहुंचे?

शहडोल मध्य प्रदेश के मध्य में स्थित है। यह जिला रेल, सड़क और हवाई मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

  • रेल मार्ग से: शहडोल रेलवे स्टेशन मध्य प्रदेश के कई प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। शहडोल से ट्रेनें भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर, और अन्य शहरों के लिए चलती हैं।
  • सड़क मार्ग से: शहडोल राष्ट्रीय राजमार्ग 26 और 75 से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। शहडोल से बसें और टैक्सियां भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर, और अन्य शहरों के लिए चलती हैं।
  • हवाई मार्ग से: शहडोल का निकटतम हवाई अड्डा भोपाल के राजा भोज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। भोपाल से शहडोल के लिए टैक्सी या बस से पहुंचा जा सकता है। 

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को शहडोल में घूमने की जगह (shahdol me Ghumne ki Jagah) (tourist places in shahdol) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट शहडोल के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है। 

Scroll to Top