Top 10+ अमृतसर में घूमने की जगह – Amritsar Tourist Places

5/5 - (4 votes)

Amritsar Tourist Places :- अमृतसर, पंजाब का एक खूबसूरत शहर है जो अपनी समृद्ध संस्कृति और इतिहास के लिए जाना जाता है। यह शहर सिख धर्म के लिए एक महत्वपूर्ण केंद्र है और यहां कई ऐतिहासिक और धार्मिक स्थल हैं। अमृतसर एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है और हर साल लाखों लोग यहां घूमने आते हैं।

अमृतसर में घूमने की जगह – Visit Places in Amritsar, Punjab

अमृतसर एक खुबसुरत शहर है जो अपने गोल्डन टेम्पल के लिए जाना जाता है | तो आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको अमृतसर के सैर पर ले चलेंगे और जानेंगे कि अमृतसर में घुमने कि जगह कौन कौन है और वहाँ क्या खास है |

अमृतसर में घूमने की जगह – श्री हरमंदिर साहिब

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए सबसे महत्वपूर्ण जगहों में से एक है श्री हरमंदिर साहिब, जिसे स्वर्ण मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर सिख धर्म का सबसे पवित्र स्थान है और इसे “स्वर्ण मंदिर” इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसकी छत सोने से बनी हुई है। मंदिर परिसर में एक पवित्र सरोवर है जिसे “सरबत खालसा” कहा जाता है। यह सरोवर सिख धर्म के पांचवें गुरु, गुरु अर्जन देव द्वारा बनवाया गया था।

श्री हरमंदिर साहिब एक अद्भुत वास्तुकला का नमूना है। मंदिर सफेद संगमरमर और सोने से बना है। मंदिर का निर्माण चारों ओर से एक पानी की दीवार से घिरा हुआ है, जो इसे एक द्वीप के रूप में बनाता है। मंदिर के अंदर एक पवित्र ग्रंथ, गुरु ग्रंथ साहिब, रखा हुआ है, जिसे सिख धर्म के अनुयायी पूजा करते हैं।

श्री हरमंदिर साहिब हर दिन लाखों श्रद्धालुओं और पर्यटकों को आकर्षित करता है। मंदिर परिसर में एक विशाल रसोई है, जहां मुफ्त भोजन (लंगर) सभी के लिए उपलब्ध है। श्री हरमंदिर साहिब एक ऐसा स्थान है जो लोगों को विभिन्न धर्मों और संस्कृतियों से एक साथ लाता है।

अमृतसर में घूमने की जगह – जलियांवाला बाग

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है जलियांवाला बाग, जिसे अमृतसर नरसंहार के स्थल के रूप में भी जाना जाता है। यह बाग उस स्थान पर स्थित है जहां ब्रिटिश सेना ने 13 अप्रैल, 1919 को एक भीड़ पर गोलीबारी की थी। इस घटना में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी। जलियांवाला बाग एक ऐतिहासिक स्मारिका है जो भारत की स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह बाग एक शांत और शांतिपूर्ण स्थान है जो लोगों को इस महत्वपूर्ण घटना को याद दिलाता है।

अमृतसर में घूमने की जगह – गोबिंदगढ़ किला

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है गोबिंदगढ़ किला, जिसे सिख साम्राज्य की राजधानी के रूप में भी जाना जाता है। यह किला शहर के बाहरी इलाके में स्थित है और इसे सिख साम्राज्य के संस्थापक, महाराजा रणजीत सिंह ने बनवाया था। गोबिंदगढ़ किला एक अद्भुत वास्तुकला का नमूना है। किला लाल बलुआ पत्थर से बना है और इसमें एक मजबूत दीवार और कई बुर्ज हैं। किले के अंदर कई महल, मंदिर और संग्रहालय हैं।

अमृतसर में घूमने की जगह – अकाल तख्त

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है अकाल तख्त, जिसे सिख धर्म का सबसे पवित्र स्थानों में से एक माना जाता है। यह तख्त श्री हरमंदिर साहिब के ठीक सामने स्थित है और इसे “अकाल” या “काल के बिना” का तख्त कहा जाता है। अकाल तख्त एक अद्भुत वास्तुकला का नमूना है। यह तख्त लाल बलुआ पत्थर से बना है और इसमें एक मजबूत दीवार और कई बुर्ज हैं। तख्त के ऊपर एक विशाल सोने का सिंहासन है, जहां सिख धर्म के सबसे बड़े नेता, गुरु गोबिंद सिंह को बैठने का अधिकार है।

अमृतसर में घूमने की जगह – विभाजन संग्रहालय

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है विभाजन संग्रहालय, जो भारत के विभाजन के बारे में एक संग्रहालय है। यह संग्रहालय अमृतसर के टाउन हॉल में स्थित है और इसे 2017 में खोला गया था। विभाजन संग्रहालय भारत के विभाजन की एक विस्तृत तस्वीर प्रस्तुत करता है। संग्रहालय में विभिन्न प्रकार के प्रदर्शन हैं, जिसमें फोटोग्राफ, वीडियो, दस्तावेज और व्यक्तिगत वस्तुएं शामिल हैं। संग्रहालय विभाजन के दौरान हुए दर्द और त्रासदी को याद दिलाता है, लेकिन यह एक उम्मीद का संदेश भी प्रदान करता है। विभाजन संग्रहालय भारत के विभाजन के बारे में जानने के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान है।

अमृतसर में घूमने की जगह – दुर्गा मंदिर

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है दुर्गा मंदिर, जो देवी दुर्गा को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर अमृतसर के पुराने शहर में स्थित है और इसे 18वीं शताब्दी में बनाया गया था। दुर्गा मंदिर एक अद्भुत वास्तुकला का नमूना है। यह मंदिर लाल बलुआ पत्थर से बना है और इसमें एक मजबूत दीवार और कई बुर्ज हैं। मंदिर के अंदर एक विशाल स्तंभ है, जिस पर देवी दुर्गा की एक प्रतिमा स्थापित है।

अमृतसर में घूमने की जगह – सदा पिंड, अमृतसर

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है सद्दा पिंड, जो एक पंजाबी संस्कृति और परंपराओं का जीवंत संग्रहालय है। यह 12 एकड़ में फैला हुआ है और इसमें कई आकर्षण हैं, जिनमें शामिल हैं:-एक लुभावनी झील, एक पारंपरिक पंजाबी गांव, एक सिख गुरुद्वारा, एक सांस्कृतिक केंद्र | सद्दा पिंड एक ऐसा स्थान है जहां आप पंजाबी संस्कृति और परंपराओं को करीब से देख सकते हैं। यह एक परिवार के लिए एकदम सही जगह है, क्योंकि यहां सभी के लिए कुछ न कुछ है।

अमृतसर में घूमने की जगह – खालसा कॉलेज

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है खालसा कॉलेज, जो एक ऐतिहासिक शैक्षणिक संस्थान है। यह कॉलेज 1892 में स्थापित किया गया था और यह सिख धर्म और पंजाब की संस्कृति के लिए एक महत्वपूर्ण केंद्र रहा है। खालसा कॉलेज का परिसर 300 एकड़ में फैला हुआ है और इसमें कई आकर्षण हैं, जिनमें शामिल हैं:- एक शानदार वास्तुकला का नमूना, एक पुस्तकालय, एक संग्रहालय, एक खेल का मैदान | खालसा कॉलेज एक ऐसा स्थान है जहां आप सिख धर्म और पंजाब की संस्कृति के बारे में जान सकते हैं।

अमृतसर में घूमने की जगह – गुरुद्वारा छेहराता साहिब

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है गुरुद्वारा छेहराता साहिब, जो सिख धर्म के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर जी की जन्मस्थली है। यह गुरुद्वारा अमृतसर शहर के बाहरी इलाके में स्थित है। गुरुद्वारा छेहराता साहिब एक शानदार सफेद संगमरमर का मंदिर है। इसमें एक विशाल हॉल है, जो गुरु तेग बहादुर जी के जीवन और कार्यों को समर्पित है। मंदिर में एक संग्रहालय भी है, जिसमें गुरु तेग बहादुर जी के समय के कई ऐतिहासिक वस्तुएं हैं।

अमृतसर में घूमने की जगह – मस्जिद खैरूद्दीन

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है मस्जिद खैरूद्दीन, जो अमृतसर की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी मस्जिद है। यह मस्जिद 16वीं शताब्दी में मुगल बादशाह अकबर के शासनकाल में बनाई गई थी। मस्जिद खैरूद्दीन एक शानदार लाल बलुआ पत्थर की मस्जिद है। इसमें एक विशाल प्रांगण है, जिसमें एक विशाल सभागार और एक मीनारों है। मस्जिद की वास्तुकला मुगल वास्तुकला का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। मस्जिद खैरूद्दीन एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक स्थल है जो मुगल काल के इतिहास के बारे में जानने के लिए एक उत्कृष्ट स्थान है।

अमृतसर में घूमने की जगह – महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा, जो सिख साम्राज्य के संस्थापक और पंजाब के महाराजा थे। यह प्रतिमा अमृतसर शहर के केंद्र में स्थित है और यह शहर का एक प्रमुख आकर्षण है। महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा एक शानदार सफेद संगमरमर की प्रतिमा है। यह प्रतिमा 20 मीटर ऊंची है और यह महाराजा रणजीत सिंह को उनकी प्रसिद्ध तलवार, तलवार, के साथ दिखाती है। प्रतिमा की वास्तुकला सिख वास्तुकला का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।

अमृतसर में घूमने की जगह – हॉल बाजार

अमृतसर में घूमने की जगह (Tourist Places in Amritsar)

अमृतसर में घूमने के लिए एक महत्वपूर्ण जगह है हॉल बाजार, जो अमृतसर का सबसे पुराना और सबसे व्यस्त बाजार है। यह बाजार शहर के केंद्र में स्थित है और यह एक प्रमुख खरीदारी स्थल है। हॉल बाजार एक विशाल बाजार है जिसमें विभिन्न प्रकार की दुकानें हैं, जिनमें कपड़े, इलेक्ट्रॉनिक्स, गहने, और बहुत कुछ शामिल हैं। बाजार में कई रेस्तरां और कैफे भी हैं, जहां आप पंजाबी व्यंजनों का आनंद ले सकते हैं। 

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को अमृतसर में घूमने की जगह (amritsar Me Ghumne ki Jagah) (tourist places in amritsar) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट अमृतसर के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है।