10+ गोरखपुर में घूमने की जगह – Gorakhpur Tourist Places

5/5 - (1 vote)

Gorakhpur Tourist Places :- गोरखपुर उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख शहर है। यह शहर धार्मिक, सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थलों के लिए प्रसिद्ध है। यहां देश-विदेश से लोग घूमने आते हैं। गोरखपुर में घूमने के लिए कई जगहें हैं। यहां हम आपको गोरखपुर की कुछ प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में बताएंगे।

गोरखपुर में घूमने लायक जगह – Places to visit in Gorakhpur, UP

गोरखपुर एक खूबसूरत शहर है अगर आप गोरखपुर घूमने के बारे में सोच रहें है या प्लान बना रहें है तो आज का आर्टिकल आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है इस ब्लॉग पोस्ट के द्वारा आज हम आपको गोरखपुर में घूमने के लिए कौन कौन से प्रमुख पर्यटन स्थल है उनके बारे में पुरी जानकारी देंगे ताकि आप गोरखपुर आसानी से घूम सके तो चलिए हम जानते हैं गोरखपुर में प्रमुख दर्शनीय स्थल कौन कौन है और क्या खास है यहाँ घूमने के लिए :- 

Table of Contents

1. श्री गोरखनाथ मंदिर – Shree Gorakhnath Temple, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

श्री गोरखनाथ मंदिर गोरखपुर का सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर भगवान शिव के अवतार गोरखनाथ को समर्पित है। यह मंदिर गोरखपुर के केंद्र में स्थित है। मंदिर का निर्माण 11वीं शताब्दी में किया गया था। मंदिर का वास्तुकला अत्यंत सुंदर है। मंदिर के अंदर कई प्राचीन मूर्तियां और शिल्प कलाकृतियाँ हैं। मंदिर का मुख्य आकर्षण गोरखनाथ की विशाल मूर्ति है। यह मूर्ति कांसे से बनी है और लगभग 10 फीट ऊंची है। मंदिर के चारों ओर एक विशाल प्रांगण है। प्रांगण में कई अन्य मंदिर और मठ हैं। मंदिर परिसर में एक गौशाला भी है।

2. रेल संग्रहालय – Rail Museum, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

गोरखपुर रेल संग्रहालय गोरखपुर का एक महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है। यह संग्रहालय भारतीय रेलवे के इतिहास और विकास को प्रदर्शित करता है। संग्रहालय में विभिन्न प्रकार के पुराने लोकोमोटिव, इंजन, डिब्बे और अन्य रेलवे उपकरणों का प्रदर्शन किया गया है। संग्रहालय में 1861 में निर्मित भारत का सबसे पुराना रेल इंजन, “लॉर्ड लारेंस” भी प्रदर्शित है। संग्रहालय में एक मिनी ट्रेन भी है, जिस पर बच्चे सवारी कर सकते हैं।

3. नौका विहार – Nauka vihar, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

नौका विहार गोरखपुर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह एक सुंदर झील के आस-पास स्थित है, जिसमें पर्यटक नौका राइड का आनंद लेते हैं। यहां पर छोटे नौके या बोट्स किराए पर मिलते हैं, जिनसे आप झील के चारों ओर घूम सकते हैं। नौका विहार का निर्माण 18वीं शताब्दी में नवाबों द्वारा किया गया था। यह झील लगभग 300 एकड़ में फैली हुई है। झील के चारों ओर घने पेड़-पौधे हैं। झील में कई प्रकार के पक्षी और पशु पाए जाते हैं। नौका विहार एक सुंदर और शांतिपूर्ण स्थान है। यह एक आदर्श स्थान है जहां आप प्रकृति का आनंद ले सकते हैं।

4. रामगढ़ ताल – Ramgarh Taal, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

रामगढ़ ताल गोरखपुर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह एक विशाल झील है, जो गोरखपुर शहर के बाहर स्थित है। ताल का क्षेत्रफल लगभग 723 हेक्टेयर है। ताल के चारों ओर घने पेड़-पौधे हैं। ताल में कई प्रकार के पक्षी और पशु पाए जाते हैं। ताल के किनारे एक पार्क भी है, जहां लोग घूमने आते हैं। रामगढ़ ताल का निर्माण प्राचीन काल में हुआ था। यह झील राप्ती नदी के अवशेषों से बनी है। रामगढ़ ताल एक सुंदर और शांतिपूर्ण स्थान है। यह एक आदर्श स्थान है जहां आप प्रकृति का आनंद ले सकते हैं। यहां आप नौका विहार, साइकिल चलाना, और पक्षी देखने का आनंद ले सकते हैं।

5. विंध्यावासिनी पार्क – Vindhyavasini Park, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

विंध्यावासिनी पार्क गोरखपुर का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यह पार्क शहर के पूर्व में स्थित है। पार्क का नाम मां विंध्यावासिनी देवी के नाम पर रखा गया है। पार्क लगभग 100 एकड़ में फैला हुआ है। पार्क में कई तरह के झूले, फव्वारे और अन्य मनोरंजक सुविधाएं हैं। पार्क में एक विशाल बरगद का पेड़ भी है, जिसे गीता वट कहा जाता है। मान्यता है कि भगवान कृष्ण ने इसी पेड़ के नीचे गीता का उपदेश दिया था। विंध्यावासिनी पार्क एक सुंदर और शांतिपूर्ण स्थान है। यह एक आदर्श स्थान है जहां आप परिवार के साथ अपना समय बिता सकते हैं। यहां आप झूले झूल सकते हैं, फव्वारे देख सकते हैं, और पार्क में घूम सकते हैं।

6. बुढ़िया माई मंदिर – Budhiya Mai Mandir Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

बुढ़िया माई मंदिर गोरखपुर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर गोरखपुर शहर से लगभग 12 किलोमीटर दूर कुसम्ही जंगल में स्थित है। मंदिर का निर्माण 17वीं शताब्दी में हुआ था। मंदिर में मां बुढ़िया माई की एक विशाल मूर्ति है। मान्यता है कि जो भी भक्त सच्चे मन से इस मंदिर में दर्शन करता है, उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। दिर परिसर में एक विशाल बरगद का पेड़ भी है। मान्यता है कि भगवान कृष्ण ने इसी पेड़ के नीचे गीता का उपदेश दिया था। मंदिर में हर साल नवरात्रि पर एक विशाल मेला लगता है।

7. प्लेनेटोरियम – Planetarium, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

वीर बहादुर सिंह प्लेनेटोरियम गोरखपुर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह प्लेनेटोरियम गोरखपुर शहर के केंद्र में स्थित है। प्लेनेटोरियम का निर्माण 21 दिसंबर 2009 से विज्ञान और प्रौद्योगिकी परिषद, उत्तर प्रदेश द्वारा चलाया जा रहा है। यह प्लेनेटोरियम रोजाना तीन, 45 मिनट के शो दोपहर 1 बजे, दोपहर 3 बजे और शाम 5 बजे चलता है। इसका गुंबद आकार 18 मीटर और बैठने की क्षमता 395 है। प्लेनेटोरियम में आधुनिक डिजिटल तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। प्लेनेटोरियम में विभिन्न प्रकार के शो आयोजित किए जाते हैं, जिसमें खगोल विज्ञान, अंतरिक्ष अन्वेषण, और पृथ्वी विज्ञान पर शो शामिल हैं। प्लेनेटोरियम में एक मल्टीमीडिया थियेटर भी है, जहां बच्चों के लिए विशेष शो आयोजित किए जाते हैं।

8. गोरखपुर उद्यान (जू) – Gorakhpur Zoo

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

शहीद अशफाक उल्लाह खान प्राणी उद्यान (जू) गोरखपुर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह चिड़ियाघर गोरखपुर शहर के बाहर रामगढ़ ताल के किनारे स्थित है। चिड़ियाघर का निर्माण 1961 में हुआ था। चिड़ियाघर में विभिन्न प्रकार के जानवरों को रखा गया है, जिनमें शेर, बाघ, हाथी, गैंडा, ज़ेबरा, हिरण, और कई प्रकार के पक्षी शामिल हैं। चिड़ियाघर में एक विशेष बच्चों का क्षेत्र भी है, जहां बच्चों के मनोरंजन के लिए कई तरह के खेल और सुविधाएं उपलब्ध हैं। यह सभी उम्र के लोगों के लिए एक आकर्षक पर्यटन स्थल है।

9. गीता वाटिका – Geeta vatika, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

गीता वाटिका गोरखपुर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह वाटिका शहर के असुरन-पिपराइच मार्ग पर स्थित है। यह वाटिका राधा-कृष्ण भक्ति का एक प्रमुख केंद्र है। दुनिया भर में इस स्थान की पहचान है। गीता वाटिका की स्थापना 1924 में श्रीहनुमान प्रसाद पोद्दार ने की थी। वाटिका में एक विशाल मंदिर है, जिसमें राधा और कृष्ण की एक सुंदर मूर्ति है। मंदिर के बाहर एक विशाल बरगद का पेड़ है, जिसे गीता वट कहा जाता है। मान्यता है कि भगवान कृष्ण ने इसी पेड़ के नीचे गीता का उपदेश दिया था।

10. आरोग्य मंदिर – Arogya Mandir, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

आरोग्य मंदिर गोरखपुर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह मंदिर शहर के बाहर 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मंदिर की स्थापना 1940 में बिठठल दास मोदी द्वारा की गई थी। मंदिर प्राकृतिक चिकित्सा के लिए प्रसिद्ध है। आरोग्य मंदिर में विभिन्न प्रकार की प्राकृतिक चिकित्सा विधियों का अभ्यास किया जाता है, जिनमें सूर्य चिकित्सा, जल चिकित्सा, वायु चिकित्सा, और आहार चिकित्सा शामिल हैं। मंदिर में एक अस्पताल भी है, जहां बीमार लोगों का प्राकृतिक चिकित्सा के माध्यम से इलाज किया जाता है।

11. गीता प्रेस – Gita Press, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

गीता प्रेस गोरखपुर का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह प्रेस शहर के केंद्र में स्थित है। गीता प्रेस विश्व की सबसे बड़ी धार्मिक पुस्तक प्रकाशन संस्था है। यहाँ गीता सहित अन्य धार्मिक पुस्तकों का प्रकाशन होता है। गीता प्रेस की स्थापना 1923 में महर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती ने की थी। प्रेस में गीता का अनुवाद 23 भाषाओं में किया गया है। इसके अलावा, यहां हिंदू धर्म से संबंधित अन्य धार्मिक पुस्तकों का भी प्रकाशन होता है।

12. श्री माता महाकाली मंदिर – Shri Mata Mahakali Mandir, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

श्री माता महाकाली मंदिर गोरखपुर का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मंदिर शहर के बाहर 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मंदिर की स्थापना 17वीं शताब्दी में हुई थी। मंदिर में मां महाकाली की एक विशाल और भव्य मूर्ति है। मान्यता है कि जो भी भक्त सच्चे मन से इस मंदिर में दर्शन करता है, उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। मंदिर परिसर में एक विशाल शिवलिंग भी है। मंदिर परिसर में एक कुंड भी है, जिसमें भक्त स्नान करते हैं। मंदिर परिसर में एक मेला भी लगता है, जो नवरात्रि के दौरान लगता है।

13. अंबेडकर पार्क – Ambedkar Park, Gorakhpur

गोरखपुर में घूमने की जगह (Gorakhpur Tourist Places)

अंबेडकर पार्क गोरखपुर का एक प्रसिद्ध सार्वजनिक उद्यान है। यह पार्क शहर के केंद्र में स्थित है। पार्क का नाम भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी और समाज सुधारक डॉ. भीमराव अम्बेडकर के नाम पर रखा गया है। अंबेडकर पार्क एक विशाल पार्क है, जिसका क्षेत्रफल लगभग 20 एकड़ है। पार्क में विभिन्न प्रकार के पेड़-पौधे और फूल हैं। पार्क में एक झील भी है, जहां लोग बोटिंग का आनंद ले सकते हैं। पार्क में एक फव्वारा भी है, जो आकर्षण का केंद्र है।

FAQ (गोरखपुर में घूमने की जगह के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल) 

गोरखपुर कहाँ है?

गोरखपुर भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के पूर्वी भाग में स्थित एक शहर है। यह शहर गोरखपुर मंडल का मुख्यालय है। गोरखपुर शहर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगभग 270 किलोमीटर दूर स्थित है। गोरखपुर शहर नेपाल की सीमा के पास स्थित है।

गोरखपुर में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय क्या है?

गोरखपुर में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच का होता है। इस दौरान मौसम सुहावना होता है और बारिश कम होती है।

गोरखपुर में घूमने के लिए कितने दिन चाहिए?

गोरखपुर में घूमने के लिए कम से कम दो दिन चाहिए। इस दौरान आप शहर के प्रमुख पर्यटन स्थलों को देख सकते हैं। यदि आपके पास समय हो, तो आप कुछ और जगहों पर भी जा सकते हैं।

गोरखपुर में घूमने के लिए बजट क्या है?

गोरखपुर में घूमने का बजट आपकी रुचि और बजट पर निर्भर करता है। यदि आप सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करते हैं और सस्ते होटलों में रहते हैं, तो आप कम खर्च में गोरखपुर की यात्रा कर सकते हैं।

गोरखपुर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह कौन सी है?

गोरखपुर में घूमने के लिए कई अच्छी जगहें हैं। कुछ सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में शामिल हैं: शहीद अशफाक उल्लाह खान प्राणी उद्यान, गीता वाटिका, आरोग्य मंदिर, गीता प्रेस, श्री माता महाकाली मंदिर, अंबेडकर पार्क इत्यादि प्रमुख है | 

गोरखपुर कैसे पहुँचे?

गोरखपुर पहुंचने के लिए कई तरीके हैं:

  • रेल मार्ग:- गोरखपुर एक महत्वपूर्ण रेलवे केंद्र है। यहां कई सारे रेलवे स्टेशन हैं, जिनमें गोरखपुर जंक्शन, गोरखपुर सिटी, और गोरखपुर कैंट शामिल हैं। गोरखपुर शहर भारत के सभी प्रमुख शहरों से रेल द्वारा जुड़ा हुआ है।
  • सड़क मार्ग:- गोरखपुर एक महत्वपूर्ण सड़क परिवहन केंद्र भी है। यहां कई सारे राष्ट्रीय राजमार्ग और राज्य राजमार्ग गुजरते हैं। गोरखपुर शहर भारत के सभी प्रमुख शहरों से सड़क द्वारा जुड़ा हुआ है।
  • हवाई मार्ग:- गोरखपुर में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जिसका नाम गोरखपुर हवाई अड्डा है। यह हवाई अड्डा शहर के केंद्र से लगभग 15 किलोमीटर दूर स्थित है। गोरखपुर हवाई अड्डा भारत के कई प्रमुख शहरों से हवाई द्वारा जुड़ा हुआ है। 

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को गोरखपुर में घूमने की जगह (gorakhpur me Ghumne ki Jagah) (tourist places in gorakhpur) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

और भी पर्यटन स्थल के बारे मे जानकारी के लिए आप हमारे होम पेज पे जाकर किसी भी शहर के बारे मे सर्च कर घुमने कि जगह के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट गोरखपुर के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है |

Scroll to Top