15+ कोरबा में घूमने की जगह यहाँ जरुर जाये – Korba Tourist Places in Hindi

5/5 - (1 vote)

Korba Tourist Places :- कोरबा छत्तीसगढ़ राज्य का एक प्रमुख जिला है जो राजधानी रायपुर से 231 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह जिला अपनी औद्योगिक और प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। यहां कोयले की खदानें, स्टील प्लांट, और कई खूबसूरत जलप्रपात और मंदिर हैं।

कोरबा में घूमने वाली जगह – Places to visit in Korba, Chhattisgarh

कोरबा एक खुबसुरत शहर है अगर आप कोरबा घूमने के बारे में सोच रहें है या प्लान बना रहें है तो आज का आर्टिकल आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है इस ब्लॉग पोस्ट के द्वारा आज हम आपको कोरबा में घूमने के लिए कौन कौन से प्रमुख पर्यटन स्थल है उनके बारे में पुरी जानकारी देंगे ताकि आप कोरबा आसानी से घूम सके तो चलिए हम जानते हैं कोरबा में प्रमुख दर्शनीय स्थल कौन कौन है और क्या खास है यहाँ घूमने के लिए:- 

Table of Contents

देवपहरी जलप्रपात,कोरबा – Devpahari Waterfall, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

देवपहरी जलप्रपात छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह जलप्रपात चौरनई नदी से बना हुआ है और कोरबा से 58 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह एक बहुत ही खूबसूरत जलप्रपात है जो हर साल बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है। देवपहरी जलप्रपात की ऊंचाई लगभग 100 फीट है। यह जलप्रपात चौरनई नदी के किनारे स्थित एक छोटी सी पहाड़ी से गिरता है। जलप्रपात के नीचे एक बड़ा तालाब बना हुआ है जहां पर्यटक नहा सकते हैं और पिकनिक मना सकते हैं।

कनकी मंदिर, कोरबा – Kanaki Temple, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

कनकी मंदिर छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह मंदिर हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है और यहां हर साल शिवरात्रि के अवसर पर एक बड़ा मेला लगता है। कनकी मंदिर एक प्राचीन मंदिर है जिसका निर्माण 1857 के आसपास कोरबा के जमींदारों द्वारा किया गया था। मंदिर के बाहरी भाग में भगवान शिव और माता पार्वती की कई खूबसूरत मूर्तियां हैं। मंदिर के गर्भगृह में भगवान शिव की एक विशाल मूर्ति स्थापित है।

सर्वमंगला मंदिर, कोरबा – Sarvamangala Temple, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

सर्वमंगला मंदिर छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह मंदिर हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से 22 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर माता दुर्गा को समर्पित है और यहां हर साल नवरात्रि के अवसर पर एक बड़ा मेला लगता है। सर्वमंगला मंदिर का निर्माण 1898 के आसपास कोरबा के जमींदारों द्वारा किया गया था। मंदिर का निर्माण लाल पत्थर से किया गया है और इसका वास्तुकला बहुत ही सुंदर है। मंदिर के गर्भगृह में माता दुर्गा की एक विशाल मूर्ति स्थापित है।

चित्तौड़गढ़ किला, कोरबा – Chittorgarh Fort, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

चित्तौड़गढ़ किला छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह किला हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह किला 16वीं शताब्दी में निर्मित किया गया था और यह एक ऐतिहासिक धरोहर है| चित्तौड़गढ़ किला एक विशाल किला है जिसका क्षेत्रफल लगभग 13 वर्ग किलोमीटर है। किले की दीवारें लगभग 10 मीटर ऊंची हैं और इनकी मोटाई लगभग 10 मीटर है। किले में कई महल, मंदिर, और अन्य ऐतिहासिक स्मारक हैं।

कुसगईगढ़ किला, कोरबा – Kosagaigarh Fort, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

कुसगईगढ़ किला छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह किला हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह किला 15वीं शताब्दी में निर्मित किया गया था और यह एक ऐतिहासिक धरोहर है।कुसगईगढ़ किला एक पहाड़ी पर स्थित है और इसका क्षेत्रफल लगभग 1 वर्ग किलोमीटर है। किले की दीवारें लगभग 10 मीटर ऊंची हैं और इनकी मोटाई लगभग 5 मीटर है। किले में कई महल, मंदिर, और अन्य ऐतिहासिक स्मारक हैं।

कुदुरमाल, कोरबा – Kudurmal, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

कुदुरमाल छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक छोटा सा गाँव है जो कोरबा से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। कुदुरमाल में संत कबीर के शिष्यों में से एक का समाधि है, जो लगभग 500 वर्ष पुराना है। इसलिए, यहाँ हर साल कबीर जयंती के अवसर पर एक बड़ा मेला लगता है। कुदुरमाल में एक पुराना मंदिर भी है जो भगवान शिव को समर्पित है।

चैतुरगढ़, कोरबा – Chaiturgarh, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

चैतुरगढ़ छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एक ऐतिहासिक किला है। यह किला हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह किला 15वीं शताब्दी में निर्मित किया गया था और यह एक ऐतिहासिक धरोहर है। चैतुरगढ़ किला एक पहाड़ी पर स्थित है और इसका क्षेत्रफल लगभग 1 वर्ग किलोमीटर है। किले की दीवारें लगभग 10 मीटर ऊंची हैं और इनकी मोटाई लगभग 5 मीटर है। किले में कई महल, मंदिर, और अन्य ऐतिहासिक स्मारक हैं।

तुमान, कोरबा – Tuman, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

तुमान छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक छोटा सा गाँव है जो कोरबा से लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। तुमान अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है। तुमान में कई प्राचीन मंदिर और स्मारक हैं। इनमें से कुछ प्रमुख हैं:- तुमान शिव मंदिर, तुमान विष्णु मंदिर, तुमान देवी मंदिर इत्यादि|

केंदई जलप्रपात, कोरबा – Kendai Waterfall, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

केंदई जलप्रपात छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक खूबसूरत जलप्रपात है। यह जलप्रपात हसदो नदी पर स्थित है और कोरबा से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह जलप्रपात अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। केंदई जलप्रपात की ऊंचाई लगभग 75 फीट है। यह जलप्रपात एक खड़ी चट्टान से गिरता है और नीचे एक विशाल कुंड बनाता है। केंदई जलप्रपात का आसपास का क्षेत्र हरे-भरे जंगलों से घिरा हुआ है।

मौहारगढ़, कोरबा – Mouhargarh, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

मौहारगढ़ छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का एक ऐतिहासिक किला है। यह किला हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह किला 16वीं शताब्दी में निर्मित किया गया था और यह एक ऐतिहासिक धरोहर है।मौहारगढ़ किला एक पहाड़ी पर स्थित है और इसका क्षेत्रफल लगभग 1 वर्ग किलोमीटर है। किले की दीवारें लगभग 10 मीटर ऊंची हैं और इनकी मोटाई लगभग 5 मीटर है। किले में कई महल, मंदिर, और अन्य ऐतिहासिक स्मारक हैं।

गोल्डन आइलैंड, कोरबा – Golden Island, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

गोल्डन आइलैंड छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एक खूबसूरत द्वीप है। यह द्वीप हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से लगभग 97 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह द्वीप अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। गोल्डन आइलैंड का नाम इसके सुनहरे रंग की चट्टानों के कारण पड़ा है। यह द्वीप लगभग 1 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। द्वीप के चारों ओर घने जंगल हैं और बीच में एक खूबसूरत झील है।

कोरबा सांप पार्क – Snake Park, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

कोरबा सांप पार्क, छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एक सांप संग्रहालय है। यह पार्क हसदो नदी के तट पर स्थित है और कोरबा से लगभग 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह पार्क अपनी विविध सांपों की प्रजातियों के लिए प्रसिद्ध है। कोरबा सांप पार्क में दुनिया भर की लगभग 200 से अधिक सांपों की प्रजातियां हैं। इनमें से कुछ प्रजातियां दुर्लभ और विलुप्तप्राय हैं। पार्क में सांपों को उनके प्राकृतिक आवास में रखा गया है। पार्क में एक संग्रहालय भी है जिसमें सांपों के बारे में जानकारी दी गई है।

मड़वारानी मंदिर, कोरबा – Madwarani Temple, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

माँ मड़वारानी मंदिर छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। माँ मड़वारानी को छत्तीसगढ़ की कुलदेवी कहा जाता है। माँ मड़वारानी मंदिर एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। मंदिर में माता मड़वारानी की एक भव्य मूर्ति है। मंदिर के आसपास का क्षेत्र हरे-भरे जंगलों से घिरा हुआ है।

पाली, कोरबा – Pali, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

पाली छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एक छोटा सा गाँव है जो कोरबा से लगभग 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पाली अपने प्राकृतिक सौंदर्य और ऐतिहासिक महत्व के लिए प्रसिद्ध है। पाली में कई प्राचीन मंदिर और स्मारक हैं। इनमें से कुछ प्रमुख हैं:- पाली शिव मंदिर, पाली विष्णु मंदिर, पाली देवी मंदिर इत्यादि |

बंगो बांध, कोरबा – Bango Dam, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

बंगो बांध छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एक प्रसिद्ध बांध है। कोरबा से लगभग 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।बंगो बांध एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यहां हर साल हजारों पर्यटक घूमने आते हैं। बंगो बांध एक ऐसी जगह है जहां आप प्रकृति की सुंदरता का आनंद ले सकते हैं |

सिल्वर जुबली पार्क, कोरबा – Silver Jubilee Park, Korba

कोरबा में घूमने की जगह (Korba Tourist Places)

सिल्वर जुबली पार्क छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित एक खूबसूरत पार्क है। यह पार्क कोरबा से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह पार्क अपनी प्राकृतिक सुंदरता और विभिन्न प्रकार के मनोरंजक सुविधाओं के लिए प्रसिद्ध है। 

FAQ (कोरबा घूमने के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल):-

कोरबा कहाँ है?

कोरबा छत्तीसगढ़ राज्य का एक प्रमुख शहर और जिला है। यह शहर हसदेव और अहिरन नदियों के संगम पर स्थित है। कोरबा छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लगभग 200 किलोमीटर दूर स्थित है।

कोरबा कब घूमना चाहिए?

कोरबा घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच का होता है। इस दौरान यहां का मौसम सुहावना रहता है और आप यहां आराम से घूम सकते हैं।

कोरबा में घूमने के लिए कौन-कौन सी जगहें हैं?

कोरबा में घूमने के लिए कई जगहें हैं। इनमें से कुछ प्रमुख हैं:

  • माँ मड़वारानी मंदिर
  • देवपहरी जलप्रपात
  • कनकी मंदिर
  • सर्वमंगला मंदिर
  • चित्तौड़गढ़ किला
  • कुसगईगढ़ किला
  • पाली
  • सीतामणी
  • बंगो बांध
  • सिल्वर जुबली पार्क

कोरबा में क्या फेमस है?

कोरबा एक ऐसा स्थान है जो अपनी विविधता के लिए जाना जाता है। यहां आप औद्योगिक विकास, ऐतिहासिक और धार्मिक स्थलों, प्राकृतिक सुंदरता, और स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद ले सकते हैं। 

कोरबा कैसे पहुंचें?

कोरबा हवाई, सड़क और रेल मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

  • हवाई मार्ग से: कोरबा का निकटतम हवाई अड्डा रायगढ़ में है। रायगढ़ से कोरबा के लिए बस या टैक्सी उपलब्ध हैं।
  • सड़क मार्ग से: कोरबा देश के सभी प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है।
  • रेल मार्ग से: कोरबा का निकटतम रेलवे स्टेशन कोरबा है। कोरबा से देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए ट्रेनें उपलब्ध हैं।

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को कोरबा में घूमने की जगह (korba me ghumne ki Jagah) (tourist places in korba) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट कोरबा के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है।

Leave a Comment