हम्पी में घूमने की जगह – Hampi Karnataka India

5/5 - (1 vote)

Hampi Karnataka India :- हम्पी, कर्नाटक राज्य में स्थित एक ऐतिहासिक शहर है। यह विजयनगर साम्राज्य की प्राचीन राजधानी थी, जो 1336 से 1646 ईस्वी तक भारत के दक्षिणी भाग में फैला हुआ था। हम्पी यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है और यह अपने भव्य मंदिरों, महलों और अन्य ऐतिहासिक स्मारकों के लिए प्रसिद्ध है।

हम्पी का इतिहास – Hampi temple history in hindi

हम्पी, कर्नाटक राज्य में स्थित एक ऐतिहासिक शहर है। यह विजयनगर साम्राज्य की प्राचीन राजधानी थी, जो 1336 से 1646 ईस्वी तक भारत के दक्षिणी भाग में फैला हुआ था। हम्पी की स्थापना 1336 ईस्वी में विजयनगर साम्राज्य के संस्थापक हरिहर और बुक्काराय प्रथम ने की थी। इस साम्राज्य ने अपनी स्थापना के बाद से ही भारत के दक्षिणी भाग में तेजी से विस्तार किया और जल्द ही यह एक शक्तिशाली साम्राज्य बन गया। हम्पी इस साम्राज्य की राजनीतिक, आर्थिक और सांस्कृतिक केंद्र बन गया।

हम्पी में घूमने लायक जगह  – Places to visit in Hampi

हम्पी, कर्नाटक राज्य में स्थित एक ऐतिहासिक शहर है। अगर आप एतेहासिक चीजों को देखना चाहते हैं तो हम्पी आपको जरुर जाना चाहिए |म्पी में घूमने के लिए कई जगहें हैं। कुछ सबसे लोकप्रिय जगहें निम्नलिखित हैं:

Table of Contents

विरुपक्ष मंदिर – Virupaksha Temple in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

विरुपक्ष मंदिर हैम्पी में स्थित एक हिंदू मंदिर है, जो भगवान विष्णु को समर्पित है। यह मंदिर 15वीं शताब्दी में विजयनगर साम्राज्य के राजा कृष्णदेवराय द्वारा बनवाया गया था। मंदिर अपने विशाल आकार और सुंदर वास्तुकला के लिए जाना जाता है। विरुपक्ष मंदिर एक गर्भगृह, एक नंदी मंडप और एक अर्धमंडप से बना है। गर्भगृह में भगवान विष्णु की एक विशाल मूर्ति है, जो 15 फीट ऊंची है। नंदी मंडप में भगवान शिव के वाहन नंदी की एक विशाल मूर्ति है। अर्धमंडप में भगवान विष्णु के अन्य रूपों की कई मूर्तियाँ हैं। मंदिर की दीवारों पर सुंदर शिल्पकारी है। इनमें भगवान विष्णु के विभिन्न रूपों, हिंदू पौराणिक कथाओं के दृश्य और धार्मिक प्रतीकों को दर्शाया गया है। मंदिर की छत पर भी कई सुंदर चित्र हैं। विरुपक्ष मंदिर हैम्पी के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। यह मंदिर हर साल लाखों पर्यटकों को आकर्षित करता है।

पंचमुखी विष्णु मंदिर – Panchmukhi Vishnu Temple in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

पंचमुखी विष्णु मंदिर हैम्पी में स्थित एक हिंदू मंदिर है, जो भगवान विष्णु के पंचमुखी रूप को समर्पित है। यह मंदिर 15वीं शताब्दी में विजयनगर साम्राज्य के राजा कृष्णदेवराय द्वारा बनवाया गया था। मंदिर अपने विशिष्ट वास्तुकला और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। पंचमुखी विष्णु मंदिर एक गर्भगृह, एक नंदी मंडप और एक अर्धमंडप से बना है। गर्भगृह में भगवान विष्णु की एक विशाल मूर्ति है, जो पांच मुखों और दस भुजाओं वाली है। मूर्ति में भगवान विष्णु के सभी पांच रूपों को दर्शाया गया है: नरसिंह, वामन, गरुड़, हयग्रीव और शेषनाग। मंदिर की दीवारों पर सुंदर शिल्पकारी है। इनमें भगवान विष्णु के विभिन्न रूपों, हिंदू पौराणिक कथाओं के दृश्य और धार्मिक प्रतीकों को दर्शाया गया है। मंदिर की छत पर भी कई सुंदर चित्र हैं।

विट्ठल मंदिर – Vitthal Temple in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

विट्ठल मंदिर हैम्पी में स्थित एक हिंदू मंदिर है, जो भगवान कृष्ण के विट्ठल रूप को समर्पित है। यह मंदिर 15वीं शताब्दी में विजयनगर साम्राज्य के राजा कृष्णदेवराय द्वारा बनवाया गया था। मंदिर अपने सुंदर वास्तुकला और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। विट्ठल मंदिर एक गर्भगृह, एक नंदी मंडप और एक अर्धमंडप से बना है। गर्भगृह में भगवान कृष्ण की एक विशाल मूर्ति है, जो 15 फीट ऊंची है। मूर्ति में भगवान कृष्ण को एक युवा लड़के के रूप में दर्शाया गया है, जो एक हाथ में बांसुरी और दूसरे हाथ में एक माला पकड़े हुए है। नंदी मंडप में भगवान शिव के वाहन नंदी की एक विशाल मूर्ति है। अर्धमंडप में भगवान कृष्ण के अन्य रूपों की कई मूर्तियाँ हैं।

राजापुरम महल – Rajapuram Palace in Hampi

राजापुरम महल हैम्पी में स्थित एक प्राचीन महल परिसर है। यह महल 15वीं शताब्दी में विजयनगर साम्राज्य के राजा कृष्णदेवराय द्वारा बनवाया गया था। महल परिसर में कई इमारतें हैं, जिनमें एक मुख्य महल, एक नंदी मंडप, एक अर्धमंडप और कई अन्य छोटे मंदिर शामिल हैं। मुख्य महल में एक विशाल हॉल है, जिसमें एक सुंदर नक्काशीदार स्तंभ है। हॉल की छत पर कई सुंदर चित्र हैं। नंदी मंडप में भगवान शिव के वाहन नंदी की एक विशाल मूर्ति है। अर्धमंडप में भगवान कृष्ण के अन्य रूपों की कई मूर्तियाँ हैं।

त्रिभुवनमहल – Tribhuvan Mahal in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

त्रिभुवनमहल हैम्पी में स्थित एक प्राचीन महल है। महल का नाम “त्रिभुवन” से लिया गया है, जिसका अर्थ है “त्रिलोकी”, या तीनों लोक: स्वर्ग, पृथ्वी और पाताल। महल को इस तरह बनाया गया था कि यह एक ही समय में तीनों लोकों का प्रतिनिधित्व करता है। महल एक विशाल आयताकार संरचना है, जिसका आकार लगभग 150 फीट x 100 फीट है। महल की दीवारें काले ग्रेनाइट से बनी हैं और उन पर सुंदर शिल्पकारी है। महल के अंदर एक विशाल हॉल है, जिसमें एक सुंदर नक्काशीदार स्तंभ है। हॉल की छत पर कई सुंदर चित्र हैं।

जयन्ता महल – Jayanta Mahal in Hampi

जयन्ता महल हैम्पी में स्थित एक प्राचीन महल है। महल का नाम राजा कृष्णदेवराय की पत्नी जयन्ता देवी के नाम पर रखा गया है। महल का निर्माण काले ग्रेनाइट से किया गया है और यह एक विशाल आयताकार संरचना है। महल की दीवारों पर सुंदर शिल्पकारी है, जिसमें हिंदू पौराणिक कथाओं के दृश्य, धार्मिक प्रतीक और अन्य कलाकृतियां शामिल हैं। महल के अंदर एक विशाल हॉल है, जिसमें एक सुंदर नक्काशीदार स्तंभ है। हॉल की छत पर कई सुंदर चित्र हैं। महल के परिसर में एक नंदी मंडप भी है, जिसमें भगवान शिव के वाहन नंदी की एक विशाल मूर्ति है।

बृहदेश्वर मंदिर – Brihadeshwara Temple in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

बृहदेश्वर मंदिर हैम्पी में स्थित एक हिंदू मंदिर है, जो भगवान शिव को समर्पित है। मंदिर एक विशाल पत्थर की संरचना है, जो लगभग 216 फीट ऊंची है। मंदिर का गर्भगृह भगवान शिव की एक विशाल मूर्ति को समायोजित करता है। मंदिर की दीवारों पर सुंदर शिल्पकारी है, जिसमें हिंदू पौराणिक कथाओं के दृश्य, धार्मिक प्रतीक और अन्य कलाकृतियां शामिल हैं। मंदिर के पास एक विशाल जलाशय है, जिसे पुष्करिणी कहा जाता है। पुष्करिणी एक प्राचीन जलाशय है, जो मंदिर के निर्माण से पहले से ही मौजूद था।

लक्ष्मीनारायण मंदिर – Laxmi Narayan temple in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

लक्ष्मीनारायण मंदिर हैम्पी में स्थित एक हिंदू मंदिर है, जो भगवान विष्णु और उनकी पत्नी लक्ष्मी को समर्पित है। मंदिर एक विशाल पत्थर की संरचना है, जो लगभग 150 फीट ऊंची है। मंदिर का गर्भगृह भगवान विष्णु और लक्ष्मी की एक विशाल मूर्ति को समायोजित करता है। मंदिर की दीवारों पर सुंदर शिल्पकारी है, जिसमें हिंदू पौराणिक कथाओं के दृश्य, धार्मिक प्रतीक और अन्य कलाकृतियां शामिल हैं। मंदिर के पास एक विशाल जलाशय है, जिसे लक्ष्मी तीर्थ कहा जाता है। लक्ष्मी तीर्थ एक प्राचीन जलाशय है, जो मंदिर के निर्माण से पहले से ही मौजूद था। लक्ष्मीनारायण मंदिर हैम्पी के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है।

उदयगिरि किला – Udayagiri Fort in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

उदयगिरि किला हैम्पी के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। यह किला एक पहाड़ी पर स्थित है, जो लगभग 1100 फीट ऊंची है। किले का निर्माण 15वीं शताब्दी में विजयनगर साम्राज्य के राजा कृष्णदेवराय द्वारा किया गया था। किला अपनी सुंदर वास्तुकला और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है।

कमल महल – Lotus Mahal in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

लोटस महल हैम्पी में स्थित एक सुंदर महल है, जो अपने अद्वितीय आकार के लिए जाना जाता है। यह महल 16वीं शताब्दी में विजयनगर साम्राज्य के राजा कृष्णदेवराय द्वारा बनवाया गया था। महल अपनी सुंदर वास्तुकला और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। महल एक विशाल सफेद संगमरमर की संरचना है, जो लगभग 100 फीट ऊंची है। महल का आकार एक कमल के फूल जैसा है। महल के अंदर एक विशाल हॉल है, जिसमें एक सुंदर नक्काशीदार स्तंभ है। हॉल की छत पर कई सुंदर चित्र हैं।

ससिवेकालु गणेश – Sasivekaalu Ganesha in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

सासीवेकालु गणेश हैम्पी में स्थित एक विशाल गणेश की मूर्ति है। मूर्ति एक विशाल ग्रेनाइट की संरचना है, जो लगभग 20 फीट ऊंची है। मूर्ति गणेश भगवान की एक बैठी हुई मूर्ति है। मूर्ति की आँखें, नाक, और कान बहुत ही सुंदर हैं। मूर्ति के सिर के ऊपर एक मोर का पंख है। मूर्ति का नाम “सासीवेकालु” इसलिए पड़ा क्योंकि मूर्ति के पास एक साँप की मूर्ति है। साँप को हिंदू धर्म में ज्ञान और शक्ति का प्रतीक माना जाता है।

मूंगा सवारी – Coracle Ride in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

हम्पी में घूमने के लिए क्रोकराइल राइड एक लोकप्रिय गतिविधि है। यह एक पारंपरिक भारतीय नाव है जो बांस से बनाई जाती है और लकड़ी के पतवार से सुसज्जित होती है। क्रोकराइल राइड आपको हैम्पी के प्राचीन खंडहरों और सुंदर दृश्यों को करीब से देखने का अवसर देती है।

राजा का संतुलन – King’s Balance in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

हम्पी में घूमने के लिए किंग’स बैलेंस एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। यह एक प्राचीन भार मापने का उपकरण है जो विजयनगर साम्राज्य के दौरान उपयोग किया जाता था। यह उपकरण एक विशाल पत्थर की संरचना है, जो लगभग 50 फीट ऊंची है। किंग’स बैलेंस का उपयोग विजयनगर साम्राज्य के दौरान विभिन्न प्रकार के सामानों को मापने के लिए किया जाता था, जिसमें सोना, चांदी, और अन्य मूल्यवान वस्तुएं शामिल हैं। यह उपकरण विजयनगर साम्राज्य की समृद्धि और शक्ति का प्रतीक है।

अंडरग्राउंड शिव मंदिर – Underground Shiva Temple in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

हम्पी में घूमने के लिए अंडरग्राउंड शिव मंदिर एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। यह मंदिर 14वीं शताब्दी में विजयनगर साम्राज्य के दौरान बनाया गया था। मंदिर का नाम इसलिए पड़ा क्योंकि यह ज़मीन के नीचे स्थित है। मंदिर में एक विशाल शिवलिंग है जो लगभग 10 फीट ऊंचा है। शिवलिंग एक चट्टान से बनाया गया है और इसमें नक्काशीदार फूल और जानवरों की आकृतियाँ हैं। मंदिर के चारों ओर एक गलियारा है जिसमें कई अन्य मूर्तियाँ हैं। अंडरग्राउंड शिव मंदिर एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से महत्वपूर्ण स्मारक है।

सनापुर झील – Sanapur Lake in Hampi

हम्पी में घूमने की जगह (Hampi Karnataka India)

हम्पी में घूमने के लिए सनापुर झील एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। यह झील हम्पी शहर के बाहर स्थित है और यह एक सुंदर और शांतिपूर्ण स्थान है। संपूर झील एक प्राकृतिक झील है जो लगभग 2 वर्ग किलोमीटर में फैली हुई है। झील में कई द्वीप हैं और इन द्वीपों पर कई प्राचीन मंदिर और अन्य संरचनाएं हैं। पर्यटक झील में बोटिंग, तैराकी और अन्य पानी के खेल का आनंद ले सकते हैं। झील के चारों ओर घूमने के लिए कई पैदल मार्ग भी हैं।

FAQ (हम्पी के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल) :-

हम्पी कहाँ स्थित है?

हम्पी, जिसे विजयनगर के रूप में भी जाना जाता है, भारत के कर्नाटक राज्य में तुंगभद्रा नदी के तट पर स्थित एक ऐतिहासिक शहर है। यह भारत के सबसे महत्वपूर्ण प्राचीन स्मारकों में से एक है और 1986 में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल के रूप में सूचीबद्ध किया गया है |

हम्पी का रथ किसने बनवाया?

हम्पी रथ का निर्माण 15वीं शताब्दी में विजय नगर साम्राज्य के शासक कृष्णदेव राय ने बनवाया था | यह भारत के प्रसिद्ध पत्थर रथ में से एक है |

हम्पी का रथ कहा है?

हम्पी का रथ भारत के कर्नाटक राज्य में हम्पी शहर में स्थित है। यह विजयनगर साम्राज्य के सबसे प्रसिद्ध स्मारकों में से एक है। रथ का निर्माण 15वीं शताब्दी में किया गया था और यह भगवान विष्णु के वाहन गरुड़ को समर्पित है। रथ 16 मीटर लंबा, 6 मीटर चौड़ा और 14 मीटर ऊंचा है। यह पूरी तरह से संगमरमर से बना है और इसमें सुंदर नक्काशी और मूर्तियां हैं।

हम्पी की खोज कैसे हुई?

हम्पी की खोज 16वीं शताब्दी में पुर्तगाली यात्रियों ने की थी। इन यात्रियों में सबसे पहले डोम जोआओ डी’एस्क्रोबा और फ्रांसिस्को डी’अल्मेडा थे। ये दोनों यात्री 1520 में हम्पी आए थे। उन्होंने शहर के खंडहरों को देखा और उन्हें बहुत आश्चर्य हुआ। उन्होंने इस शहर के बारे में अपने यात्रा वृत्तांतों में लिखा और इस तरह हम्पी की खोज दुनिया को पता चली।

हम्पी जाने का सबसे अच्छा समय कौन सा है?

हम्पी जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च के बीच है। इस दौरान मौसम सुहावना रहता है और तापमान 20 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है। इस समय हम्पी में भीड़ भी कम होती है।

हम्पी देखने के लिए कितना समय चाहिए?

हम्पी देखने के लिए कितना समय चाहिए, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने स्मारकों को देखना चाहते हैं। अगर आप केवल हम्पी के सबसे प्रसिद्ध स्मारकों को देखना चाहते हैं, तो दो दिन का समय पर्याप्त है। लेकिन अगर आप हम्पी के सभी स्मारकों को देखना चाहते हैं, तो तीन या चार दिन का समय चाहिए।

हम्पी में क्या खास है?

हम्पी में कई चीजें खास हैं, लेकिन सबसे खास बात यह है कि यह एक प्राचीन शहर है जो विजयनगर साम्राज्य की राजधानी था। इस शहर में कई मंदिर, महल, स्मारक और अन्य ऐतिहासिक स्थल हैं जो विजयनगर साम्राज्य की समृद्धि और शक्ति का गवाह हैं।

हम्पी में कितने मंदिर हैं?

हम्पी में मंदिरों की संख्या का कोई सटीक अनुमान नहीं है। कुछ अनुमान बताते हैं कि हम्पी में 500 से अधिक मंदिर हैं, जबकि अन्य अनुमान बताते हैं कि 1000 से अधिक मंदिर हैं। हम्पी में मंदिरों की संख्या का निर्धारण करना मुश्किल है क्योंकि कई मंदिर खंडहर हो चुके हैं और उनकी पहचान करना मुश्किल है।

हम्पी कैसे जाये?

हम्पी पहुंचने का सबसे अच्छा तरीका आपके स्थान और बजट पर निर्भर करता है।

  • हवाई मार्ग से: हम्पी का निकटतम हवाई अड्डा बेल्लारी है, जो लगभग 60 किलोमीटर दूर है। बेल्लारी से हम्पी तक टैक्सी या बस से पहुंचा जा सकता है।
  • रेल मार्ग से: हम्पी का निकटतम रेलवे स्टेशन होसपेट है, जो लगभग 13 किलोमीटर दूर है। होसपेट से हम्पी तक बस या टैक्सी से पहुंचा जा सकता है।
  • सड़क मार्ग से: हम्पी राष्ट्रीय राजमार्ग 150 से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। बैंगलोर, मैसूर और अन्य प्रमुख शहरों से हम्पी तक बसें और टैक्सियाँ उपलब्ध हैं।
  • निजी वाहन से: यदि आप अपनी कार या बाइक से यात्रा कर रहे हैं, तो हम्पी पहुंचने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप राष्ट्रीय राजमार्ग 150 या राष्ट्रीय राजमार्ग 500 से जाएं।

हम्पी में कहाँ ठहरे?

हम्पी में ठहरने के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं। आप अपनी बजट और सुविधा के अनुसार किसी भी विकल्प का चयन कर सकते हैं।

  • होटल: हम्पी में कई रेटिंग और बजट श्रेणियों में होटल उपलब्ध हैं। यदि आप एक आरामदायक और सुविधाजनक ठहरने की तलाश में हैं, तो आप ऑनलाइन या ऑफ लाइन होटल बुक कर सकते हैं |
  • होमस्टे: हम्पी में कई होमस्टे भी उपलब्ध हैं। होमस्टे एक स्थानीय अनुभव प्रदान करते हैं और वे अक्सर होटलों की तुलना में अधिक किफायती होते हैं।
  • गेस्टहाउस: हम्पी में कई गेस्टहाउस भी उपलब्ध हैं। गेस्टहाउस होटलों और होमस्टे के बीच एक मध्यवर्ती विकल्प हैं।
  • कैंपिंग: यदि आप एक साहसिक अनुभव की तलाश में हैं, तो आप हम्पी में कैंपिंग कर सकते हैं। हम्पी में कई कैंपिंग स्थल उपलब्ध हैं।

निष्कर्ष (Discloser):

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को हम्पी में घूमने की जगह (hampi Me Ghumne ki Jagah) (tourist places in hampi) से सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी है और यह जानकारी अगर आपको पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले। आपके इस बहुमूल्य समय के लिए धन्यवाद |

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख के सम्बन्ध में कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए comment का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :-

और भी पर्यटन स्थल के बारे मे जानकारी के लिए आप हमारे होम पेज पे जाकर किसी भी शहर के बारे मे सर्च कर घुमने कि जगह के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

नोट: यह ब्लॉग पोस्ट हम्पी कर्नाटक के प्रति मेरी आत्मीय भावनाओं का प्रतिबिंब है और इसका उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है |

Leave a Comment